scorecardresearch
 

FTII को मिला विस्फोटक से भरा पार्सल, कन्हैया कुमार को दी धमकी

पुणे स्थित FTII के डीजी ऑफिस में एक संदिग्ध पार्सल मिला, जिसमें एक लिफाफा और डेटोनेटर के साथ एक धमकी भरा पत्र मिला. धमकी जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार के संभावित दौरे को लेकर दी गई थी.

भारतीय फिल्म और टेलीविजन संस्थान भारतीय फिल्म और टेलीविजन संस्थान

एफटीआईआई के निदेशक कार्यालय को जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार के अप्रैल के संभावित दौरे के सिलसिले में शनिवार शाम कुछ संदिग्ध विस्फोटक पदार्थ से भरा एक लिफाफा, एक डेटोनेटर और धमकी भरा एक पत्र मिला.

संदिग्ध लिफाफा मिलने पर पुलिस को दी गई सूचना
लिफाफे पर भारतीय फिल्म और टेलीविजन संस्थान के पूर्व निदेशक प्रशांत पथराबे का पता था. संस्थान के वर्तमान निदेशक भूपेंद्र कैंथोला ने कहा, ‘मेरे कार्यालय ने शाम साढ़े पांच बजे लिफाफा प्राप्त किया और चूंकि इसके अंदर का सामान संदिग्ध था, इसलिए हम लोगों ने पुलिस को सूचित कर दिया.’

डेटोनेटर और सफेद पाउडर मिला
डेक्कन पुलिस थाने की वरिष्ठ पुलिस इंस्पेक्टर सुषमा चव्हाण ने कहा कि पार्सल में एक डेटोनेटर और सफेद पाउडर था, जिसके विस्फोटक सामग्री होने का संदेह है. इसमें एक पत्र भी है, जिसमें कुमार को FTII के दौरे की अनुमति देने के खिलाफ निदेशक को चेताया गया है.’

फॉरेंसिक लैब भेजी गई सामग्री
पुलिस को शक है कि पैकेट को कन्हैया कुमार के 24 अप्रैल के पुणे दौरे से पहले भेजा गया होगा, जब पथराबे संस्थान के निदेशक थे. उस दिन पुणे में एक सभा को संबोधित करने वाले कन्हैया कुमार को रिपोर्ट के मुताबिक FTII भी जाना था, लेकिन वह वहां नहीं गए. चव्हाण ने कहा, ‘सामग्री को फॉरेंसिक लैब भेजा गया है.’ वहीं FTII छात्र संघ ने कहा है कि वह इस घटना से सकते में है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें