scorecardresearch
 

महाराष्ट्र में कोरोना के हालात में हो रहा सुधार, सरकार ने जारी किया ऑक्सीजन बेड्स का आंकड़ा

मुंबई और उसके उपनगरों में वीकली पॉजिटिविटी रेट (4 जून - 10 जून) 4.40 थी. पास के ठाणे जिले में यह दर 5.92 थी. वहीं, कोल्हापुर (15.85), पुणे (11.11), रायगढ़ (13.33), रत्नागिरी (14.12), सतारा (11.30), सिंधुदुर्ग (11.89) ने उच्च स्तर पर पॉजिटिविटी रेट को दर्ज किया.

महाराष्ट्र में कोरोना के हालात में हो रहा सुधार महाराष्ट्र में कोरोना के हालात में हो रहा सुधार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महाराष्ट्र में सुधर रही कोरोना की स्थिति
  • ऑक्सीजन बेड ऑक्यूपेंसी 35 हजार ज्यादा तो सक्रिय होगा ऑक्सीजन ट्रिगर
  • आने वाले हफ्ते में नहीं होगी ऑक्सीजन की किल्लत

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस की स्थिति में लगातार सुधार हो रहा है. इससे ऑक्सीजन की किल्लत भी दूर होने लगी है. राज्य सरकार ने गुरुवार तक महाराष्ट्र में ऑक्सीजन बेड्स की ऑक्यूपेंसी और पॉजिटिविटी रेट के बारे में जानकारी दी. आंकड़ों के अनुसार, 10 जून तक राज्य भर में  20,697 ऑक्सीजन बेड्स भरे हुए हैं. यह संख्या 35,000 से कम होने के कारण आने वाले सप्ताह में राज्य स्तर पर ऑक्सीजन की किल्लत नहीं होने वाली है.

इससे पहले, राज्य सरकार ने अपने ऑर्डर में कहा था कि यदि महाराष्ट्र में ऑक्सीजन बेड के इस्तेमाल की संख्या 35,000 से अधिक हो जाती है तो 'ऑक्सीजन ट्रिगर' सक्रिय हो जाएगा और स्तर 1 और 2 की छूट स्थानीय स्तर के मापदंडों के बावजूद मौजूद नहीं रहेगी. ऑर्डर में यह भी कहा गया कि- यदि ऑक्सीजन बेड ऑक्यूपेंसी 45,000 से अधिक हो जाती है तो राज्य स्तर 1,2,3 को हटा देगा और पूरे राज्य को स्तर 4,5 के रूप में बांटा जाएगा.

मुंबई और उसके उपनगरों में वीकली पॉजिटिविटी रेट (4 जून - 10 जून) 4.40 थी. पास के ठाणे जिले में यह दर 5.92 थी. वहीं, कोल्हापुर (15.85), पुणे (11.11), रायगढ़ (13.33), रत्नागिरी (14.12), सतारा (11.30), सिंधुदुर्ग (11.89) ने उच्च स्तर पर पॉजिटिविटी रेट को दर्ज किया. वहीं, जहां तक ऑक्सीजन बेड ऑक्यूपेंसी की बात है तो मुंबई और उसके उपनगरों में यह आंकड़ा 27.12% रहा है. ठाणे में यह 12.78% दर्ज किया गया.

कोल्हापुर (67.41), पालघर (27.66), रत्नागिरी (48.75), सतारा (41.06), सिंधुदुर्ग (51.59) उच्च स्तर पर रहे. इसके अलावा, गोंदिया में संक्रमण दर सबसे कम 0.83 फीसदी, वर्धा में उपयोग में लाए जा रहे ऑक्सीजन बेड का प्रतिशत सबसे कम 1.57 है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें