scorecardresearch
 

मुंबई में राहत, 2 साल 10 महीने में पहली बार कोरोना के जीरो मामले

महाराष्ट्र के मुंबई में मंगलवार को महामारी की शुरुआत के बाद पहली बार जीरो कोविड मामलों की सूचना से राहत है. बीएमसी ने 2772 कोरोना टेस्ट किए और शून्य मामले दर्ज किए गए. पिछली बार मुंबई में शून्य कोविड मामले 16 मार्च, 2020 यानी महामारी की शुरुआत में दर्ज किए गए थे.

X
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

दुनिया में अब भी कोरोना अटैक की खबरें आ रही हैं. इस बीच महाराष्ट्र के मुंबई में मंगलवार को महामारी की शुरुआत के बाद पहली बार जीरो कोविड मामलों की सूचना से राहत है. बीएमसी ने 2772 कोरोना टेस्ट किए और शून्य मामले दर्ज किए गए. पिछली बार मुंबई में शून्य कोविड मामले 16 मार्च, 2020 यानी महामारी की शुरुआत में दर्ज किए गए थे. यह ऐसे समय में देखने को मिला है जब चीन में कोरोना मामलों में अचानक उछाल के कारण एक और वेव का अनुमान लगाया गया है.

बीएमसी के स्वास्थ्य विभाग ने इस खबर पर खुशी जताते हुए कहा कि पिछले ढाई साल से उनके लिए परीक्षा जैसी स्थिति रही है. मुंबई एक समय कोविड मामलों के लिए केंद्र बन गया था. विशेषज्ञों ने राहत व्यक्त की, लेकिन किसी भी संभावित नए संस्करण का मुकाबला करने के लिए सतर्कता बरतने की भी सिफारिश की.  

देश की पहली नेजल वैक्सीन 26 जनवरी को होगी लॉन्च

इधर, पहली भारतीय इंट्रानेजल कोविड वैक्सीन 26 जनवरी को लॉन्च किया जाएगा. कंपनी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक कृष्णा एला ने शनिवार को कहा कि स्वदेशी वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक 26 जनवरी को भारत में अपनी तरह की पहली इंट्रानेजल कोविड-19 वैक्सीन लॉन्च करेगी. भोपाल में इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल में छात्रों के साथ बातचीत करते हुए, एला ने यह भी जानकारी दी कि मवेशियों में ढेलेदार त्वचा रोग के लिए घरेलू टीका, लंपी-प्रोवाइंड, अगले महीने लॉन्च होने की संभावना है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें