scorecardresearch
 

महाराष्ट्र में कैबिनेट विस्तार होते ही बगावत! NCP विधायक ने किया इस्तीफे का ऐलान

महाराष्ट्र में सोमवार को हुए कैबिनेट विस्तार में एनसीपी के चार बार के विधायक प्रकाश सोलंके को जगह नहीं मिल सकी है. सोलंके ने विधायकी पद से इस्तीफा देने के साथ-साथ राजनीति से भी संन्यास लेने का ऐलान कर दिया है. हालांकि उन्होंने कहा कि वे मंत्री न बनाए जाने के चलते ये फैसला नहीं ले रहे हैं.

एनसीपी विधायक प्रकाश सोलंके एनसीपी विधायक प्रकाश सोलंके

  • महाराष्ट्र में उद्धव सरकार के कैबिनेट का विस्तार
  • नाराज NCP विधायक देंगे एमएलए पद से इस्तीफा

महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार के बाद बगावत के सुर उठने लगे हैं. सोमवार को हुए कैबिनेट विस्तार में एनसीपी के चार बार के विधायक प्रकाश सोलंके को जगह नहीं मिल सकी. सोलंके ने विधायकी इस्तीफा देने के साथ-साथ राजनीति से भी संन्यास लेने का ऐलान कर दिया है. हालांकि उन्होंने कहा कि मंत्री न बनाए जाने के चलते वे ये फैसला नहीं ले रहे हैं.

महाराष्ट्र के बीड जिले के मजलगांव सीट से एनसीपी विधायक प्रकाश सोलंके ने aajtak.in से बातचीत करते हुए कहा कि वह विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देंगे, क्योंकि वह राजनीति करने के लिए अयोग्य हैं. साथ ही उन्होंने कहा कि विधायक ही नहीं बल्कि राजनीति भी छोड़ने का फैसला किया है. वे आज मंगलवार दोपहर विधानसभा अध्यक्ष से मिलकर अपना इस्तीफा देंगे. हालांकि उन्‍होंने स्‍पष्‍ट किया कि उनके इस्‍तीफे का कैबिनेट विस्‍तार से कोई संबंध नहीं है.

उन्होंने कहा कि ऐसी राजनीतिक परिस्थिति बनी है, जिसके बाद अब हम जैसे लोगों के लिए सियासत में कोई जगह नहीं बची है. सोलंकी ने कहा कि तीस साल से राजनीति कर रहा हूं और अब इस तरह की राजनीतिक माहौल में हमारे लिए कोई जगह नहीं बची है. प्रकाश सोलंके इस बयान से समझा जा सकता है कि वे कैबिनेट विस्‍तार से किस कदर नाखुश हैं.

प्रकाश सोलंके चार बार से मजलगांव सीट से विधायक चुने जा चुके हैं. सोमवार को उद्धव सरकार के कैबिनेट विस्‍तार में उन्हें मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिली है जबकि इससे पहले कांग्रेस-एनसीपी सरकार में वे राज्यमंत्री रहे चुके हैं. उन्होंने अचानक लिए गए फैसले को मंत्री न बनाए जाने की नाराजगी से जोड़ने से इनकार किया है. हालांकि उन्‍होंने कहा कि कैबिनेट विस्‍तार साबित करता है कि मैं मौजूदा राजनीति में अयोग्‍य हूं. उन्होंने कहा कि वह पार्टी के किसी नेता से नाखुश नहीं हैं और एनसीपी नेताओं को अपने फैसले से अवगत करा दिया है.

बता दें कि महाराष्ट्र में सोमवार को सीएम उद्धव ठाकरे के कैबिनेट मंत्रिमंडल का विस्‍तार किया गया, जिसमें 36 मंत्रियों को शपथ दिलाई गई. इसमें एनसीपी से 10 कैबिनेट और 4 राज्य मंत्री, कांग्रेस से 8 कैबिनेट और 2 राज्य मंत्री जबकि शिवसेना से 8 कैबिनेट और 2 राज्य मंत्री के रूप में शपथ लिया है. इस तरह के सरकार में एनसीपी से 12 कैबिनेट जबकि कांग्रेस-शिवसेना के 10-10 कैबिनेट में शामिल हुए हैं. राज्य में इस समय मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे समेत 43 मंत्री हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें