scorecardresearch
 

महाराष्ट्र: मंत्री के भीड़ वाले वीडियो पर सोशल मीडिया यूजर्स का सवाल- त्योहारों पर प्रतिबंध क्यों?

हालांकि सोशल मीडिया पर इस वीडियो का स्वागत नहीं हो रहा है. बल्कि उनपर यह कहते हुए निशाना साधा जा रहा है कि अगर राजनीतिक इवेंट्स के लिए भीड़ इकट्ठा करने की इजाजत है तो फिर त्योहारों पर आमलोगों को मंदिर जाने की इजाजत क्यों नहीं है?

महाराष्ट्र के मंत्री पर उठ रहे सवाल (ट्विटर से ली गई फोटो) महाराष्ट्र के मंत्री पर उठ रहे सवाल (ट्विटर से ली गई फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कैबिनेट मंत्री जितेंद्र आव्‍हाड से नाराज लोग
  • सोशल मीडिया पर मिल रही कड़ी प्रतिक्रिया
  • स्वागत समारोह में दिख रही हजारों की भीड़

महाराष्ट्र सरकार में कैबिनेट मंत्री जितेंद्र आव्‍हाड के एक ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया पर उन्हें कड़ी प्रतिक्रिया का सामना करना पड़ रहा है. प्रदेश आवास मंत्री जितेंद्र आव्‍हाड ने शुक्रवार को अपने ट्विटर हैंडल पर एक वीडियो डाला. यह वीडियो भिवंडी का है. इस वीडियो में काफी भीड़ देखी जा रही है.

जहां पर एनसीपी (राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी) कार्यकर्ता बाइक पर सवार होकर उनका स्वागत कर रहे हैं. इस वीडियो में आव्‍हाड के काफीले के स्वागत में लगे कार्यकर्ताओं की जबरदस्त भीड़ देखने को मिल रही है.

कैबिनेट मंत्री ने इस वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा, 'भिवंडी में कार्यकर्ताओं ने आज इस तरह स्वागत किया.' उन्होंने इस मौके पर घोषणा करते हुए कहा कि महाराष्ट्र आवास और क्षेत्र विकास प्राधिकरण (MHADA), भिवंडी में 20000 मकान का निर्माण करेगी. 

हालांकि सोशल मीडिया पर इस वीडियो का स्वागत नहीं हो रहा है. बल्कि उनपर यह कहते हुए निशाना साधा जा रहा है कि अगर राजनीतिक इवेंट्स के लिए भीड़ इकट्ठा करने की इजाजत है तो फिर त्योहारों पर आमलोगों को मंदिर जाने की इजाजत क्यों नहीं है?

और पढ़ें- दही हांडी को लेकर महाराष्ट्र में बवाल, BJP नेता ने घर में मनाया जश्न

एक सोशल मीडिया यूजर ने वीडियो पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, 'प्रदेश में अब भी कोरोना महामारी का संकट खत्म नहीं हुआ है. इसलिए महाराष्ट्र सरकार ने अभी भी कई प्रतिबंध जारी रखे हैं. एक तरफ प्रदेश सरकार चेतावनी जारी करते हुए कह रही है कि अगर कोविड मामलों में इजाफा हुआ तो एक बार फिर से सख्त प्रतिबंध लगाए जा सकते हैं. वहीं दूसरी तरफ प्रदेश सरकार के मंत्री ही कोविड प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ा रहे हैं.'

मुंबई AAP ने भी सवाल खड़े करते हुए कहा कि सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि सरकार बार बार लोगों से अपील कर रही है कि वो भीड़ भाड़ वाले इलाके में  जाने से बचें. लेकिन अब सवाल उनके मंत्री पर ही खड़े हो रहे हैं. उनके स्वागत समारोह के लिए भीड़ जुटाए जा रहे हैं. यह कोविड प्रोटोकॉल का तो उल्लंघन है ही, ट्रैफिक नियमों का भी उल्लंघन है. नेता और आम लोगों के लिए नियम अलग अलग क्यों हैं?

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें