scorecardresearch
 

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने दी शाहरुख खान को सलाह- बेटे आर्यन को एक महीने के लिए नशा मुक्ति केंद्र भेजें

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले (Union Minister Ramdas Athawale) ने मंगलवार को कहा कि फिल्म उद्योग में सबसे ज्यादा ड्रग्स की बिक्री होती है. इसमें बदलाव लाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि ड्रग्स लेने वालों को अरेस्ट नहीं करना चाहिए. बल्कि उन्हें रिहैबिलिटेशन सेंटर भेजा जाना चाहिए.

X
केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले (File) केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले (File)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ड्रग्स मामले पर रामदास अठावले बोले
  • फिल्म उद्योग में बिकता है सबसे ज्यादा ड्रग्स
  • 'ड्रग्स लेने वालों को अरेस्ट ना करें, भेजें रिहैब सेंटर'

मुंबई क्रूज ड्रग्स मामले में रोजाना नए-नए खुलासे और दावे हो रहे हैं. बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान कई दिनों से जेल में बंद हैं और नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) पूरे मामले की जांच कर रही है. इसी बीच केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले (Union Minister Ramdas Athawale) ने मंगलवार को कहा कि फिल्म उद्योग में सबसे ज्यादा ड्रग्स की बिक्री होती है.

अठावले ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि फिल्म उद्योग में ड्रग्स का बड़े पैमाने पर इस्तेमाल हो रहा है, इसमें बदलाव लाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि ड्रग्स का इस्तेमाल करने वालों को नशा मुक्ति केंद्रों में भेजा जाना चाहिए. उन्हें गिरफ्तार या सलाखों के पीछे नहीं डाला जाना चाहिए, लेकिन जो गिरफ्तारियां हुई हैं, वे सही दिशा में और जांच प्रक्रिया के अनुसार हुई हैं.

अठावले ने कहा, ''हमारे देश में शराब पीने या सिगरेट पीने वालों को जेल नहीं भेजा जाता है, लेकिन जो लोग ड्रग्स के साथ पाए जाते हैं उन्हें सीधे सलाखों के पीछे डाल दिया जाता है. हमारे मंत्रालय का मानना ​​​​है कि हमें ऐसे लोगों को दंडित नहीं करना चाहिए. बल्कि उन्हें इस चीज से बाहर निकालना चाहिए. उनकी मदद करनी चाहिए. उन्हें नशा मुक्ति केंद्र भेजना चाहिए ताकि वे लोग इस चीज से बाहर निकल सकें.''

अठावले ने शाहरुख खान को दी सलाह
वहीं, हाल ही में केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने शाहरुख खान को उनके बेटे को लेकर सलाह दी थी. अठावले ने कहा कि शाहरुख को आर्यन को महीनेभर के लिए नशा मुक्ति केंद्र में भेज देना चाहिए. अठावले ने कहा, ''मैं शाहरुख खान को सलाह दूंगा कि वह आर्यन खान को एक महीने के लिए नशा मुक्ति केंद्र में भेज दें.'' उन्होंने आगे कहा कि हमारे डिपार्टमेंट ने ड्रग्स की खपत को कम करने का सुझाव दिया है. वर्तमान कानून गिरफ्तारी का है. हमने सुझाव दिया है कि अगर वे पुनर्वास के लिए तैयार हैं तो गिरफ्तार से बचना चाहिए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें