scorecardresearch
 

'आदिवासियों और द्रविड़ों का है भारत...' रैली में BJP-RSS पर AIMIM चीफ ओवैसी का वार

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने महाराष्ट्र के भिवंडी में भारत की बनावट और बसावट पर अपनी राय रखी. उन्होंने कहा कि भारत न तो ओवैसी का है और न ही मोदी का. भारत अगर किसी का है तो वे आदिवासी और द्रविड़ हैं. भारत में लोग एशिया, अफ्रीका से आए तब ये देश बना है.

X
असदुद्दीन ओवैसी फाइल फोटो
असदुद्दीन ओवैसी फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 'भारत द्रविड़ों और आदिवासियों का है'
  • भाजपा, राकांपा, कांग्रेस, सपा पर वार
  • '4000 साल पहले आर्य भारत आए'

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा है कि भारत न तो मेरा है, न तो मोदी का है और न ही शाह का. भारत अगर किसी का है तो वो द्रविड़ों और आदिवासियों का है. ओवैसी ने कहा कि भारत तब बना जब यहां लोग अफ्रीका, ईरान, सेंट्रल एशिया और पूर्वी एशिया से आए.

महाराष्ट्र के भिवंडी में एक रैली को संबोधित किया. इस दौरान ओवैसी ने बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि आज देश में बेरोजगारी, महंगाई की बात कोई नहीं करता. आज मुसलमानों को बीजेपी का खौफ दिखाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि बीजेपी-संघ ने देश में झूठ फैलाया. क्या भारत की तारीख मुगलों से शुरू हुई थी? क्या औरंगजेब ने भारत में बेरोजगारी बढ़ा दी है? मुसलमान मारे जाते हैं, इसके लिए कौन जिम्मेदार है? कश्मीर में एक सरकारी कर्मचारी की हत्या का जिम्मेदार कौन है?

भारत द्रविड़ों और आदिवासियों का है

रैली को संबोधित करते हुए ओवैसी ने बीजेपी संघ पर हमला किया. उन्होंने कहा, " भारत किसका है मालूम है आपको, मेरा भी नहीं है भारत, यह भारत न उद्धव ठाकरे का है, न ओवैसी का है, न मोदी का है, और न शाह का है. अगर भारत किसी का है तो वह द्रविड़ों और आदिवासियों का है. चार जगह से लोग आए थे, लेकिन बीजेपी-आरएसएस कहती है कि मुगल आए-मुगल आए...अफ्रीका से तो भी लोग आए थे. ईरान से भी आए थे, सेंट्रल एशिया से भी आए थे. ईस्ट एशिया से भी आए थे. ये सब आए तब भारत बना, लेकिन आदिवासी यहां का है, द्रविड यहां के हैं. आर्य 4000 साल पहले यहां आए थे."

संजय राउत पर सवाल

ओवैसी ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, संजय राउत को बचा लिया, नवाब मलिक को जेल जाने दिया. ओवैसी ने पूछा, यही सच्चाई है कि साहब (शरद पवार) ने संजय राउत का नाम लिया, लेकिन नवाब मलिक का नहीं. क्या संजय और नवाब बराबर नहीं हैं.

ओवैसी ने पूछा कि क्या संजय राउत एनसीपी के लिए नवाब मलिक से ज्यादा जरूरी हो गए हैं. ओवैसी ने कहा कि महाराष्ट्र चुनाव के दौरान, कांग्रेस और एनसीपी ने लोगों से कहा कि वे शिवसेना और बीजेपी को रोकने के लिए AIMIM को वोट न दें. चुनाव के बाद एनसीपी और कांग्रेस ने प्रतिद्वंद्वी शिवसेना के साथ गठबंधन किया.

भाजपा, राकांपा, कांग्रेस, सपा पर वार

ओवैसी ने कहा, भाजपा, राकांपा, कांग्रेस, सपा धर्मनिरपेक्ष दल हैं. उन्हें लगता है कि उन्हें जेल नहीं जाना चाहिए लेकिन कोई मुस्लिम पार्टी का सदस्य जाए तो ठीक है. एनसीपी प्रमुख शरद पवार पीएम मोदी से मिलने जाते हैं और उनसे आग्रह करते हैं कि संजय राउत के खिलाफ कोई कार्रवाई न करें. मैं राकांपा कार्यकर्ताओं से पूछना चाहता हूं कि पवार ने नवाब मलिक के लिए ऐसा क्यों नहीं किया.

खालिद गुड्डू की रिहाई की मांग

ओवैसी ने AIMIM भिवंडी के नेता खालिद गुड्डू की रिहाई की भी मांग की, जिन्हें 2020 में कई अपराध के मामले में गिरफ्तार किया गया था. गुड्डू को निर्दोष बताते हुए, AIMIM प्रमुख ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से उन्हें रिहा करने का अनुरोध किया.

उन्होंने कहा, मैं शिवसेना और मुख्यमंत्री से खालिद गुड्डू को रिहा करने का अनुरोध करता हूं. प्रकृति इतनी मजबूत है कि अगर आज निर्दोष लोग जेल में हैं तो कल शक्तिशाली जेल में हो सकता है और सत्ता निर्दोष के हाथ में हो सकती है.

ये भी पढ़ें:


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें