scorecardresearch
 

शिवराज सरकार ने गुना की गलती को पिछोर में सुधारा, जानिए कैसे

शिवराज सरकार ने कुछ दिन पहले की गई एक गलती को सुधार लिया है. प्रदेश सरकार की इस गलती के चलते केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी तक को माफी मांगनी पड़ी थी.

शिवराज चौहान (फाइल फोटो) शिवराज चौहान (फाइल फोटो)

मध्यप्रदेश सरकार ने कुछ दिन पहले गुना में की गई गलती को सुधार लिया है. अब आप सोच रहे होंगे कि शिवराज सरकार ने ऐसी क्या गलती कर दी थी जिसको सुधार लिया गया है? तो आपको बता दें कि हम उस गलती की बात कर रहे हैं जिसके कारण केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी को लोकसभा में ज्योतिरादित्य सिंधिया से माफी मांगनी पड़ी थी.

आपको बता दें कि पिछले दिनों गुना में हुए NHAI के कार्यक्रम में स्थानीय सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को ना बुलाने के मामले ने काफी तूल पकड़ा था. इस मामले में सूबे की राजनीति इतनी गरमा गयी थी कि सिंधिया ने लोकसभा में विशेषाधिकार हनन का नोटिस दिया था, जिसके बाद केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कार्यक्रम में ना बुलाये जाने पर सिंधिया से माफी मांगी थी.

पिछोर में दूर की गलती

गुना में हुई ग़लती को सरकार ने पिछोर में सुधार लिया है. शिवपुरी जिले के पिछोर में सोमवार को आयोजित होने वाले सरकारी कार्यक्रम के आमंत्रण पत्र में कांग्रेस के लोकसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का भी नाम लिखा गया है. दरअसल पिछोर में सीएम शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में सिंचाई परियोजना का शिलान्यास समारोह है. कार्यक्रम में जिला प्रशासन ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी बुलाया है. ये कार्यक्रम पिछोर के छत्रसाल स्टेडियम में होगा. सरकारी आमंत्रण पत्र में ज्योतिरादित्य सिंधिया के अलावा उनकी बुआ और मध्यप्रदेश सरकार में खेल मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया, जल संसाधन मंत्री नरोत्तम मिश्रा, स्वास्थ्य मंत्री रुस्तम सिंह का नाम भी छपवाया गया है.

गुना के कार्यक्रम में सिंधिया को ना बुलाये जाने पर शिवराज सरकार की काफी किरकिरी हुई थी, वहीं स्थानीय विधायक को भी शिवराज सिंह चौहान के सामने मंच से धक्के देकर उतारा गया था, जिसके बाद मामला लोकसभा तक पहुंच गया था. लेकिन पिछोर में लगता है सरकार ने पिछली गलती से सबक ले लिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें