scorecardresearch
 

मध्य प्रदेश में 17 अप्रैल को होगा एक और उपचुनाव, जानिए क्यों?

दमोह विधानसभा सीट पर होने जा रहे उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी की तरफ से राहुल सिंह लोधी की दावेदारी सबसे ज्यादा मजबूत मानी जा रही. क्योंकि राहुल सिंह लोधी कांग्रेस छोड़ भाजपा में आए हैं. इसलिए माना जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी उन्हें ही अपना उम्मीदवार बनाएगी.

X
मध्य प्रदेश की दामोह सीट पर उपचुनाव 17 अप्रैल को होगा.(सांकेतिक तस्वीर) मध्य प्रदेश की दामोह सीट पर उपचुनाव 17 अप्रैल को होगा.(सांकेतिक तस्वीर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भाजपा से राहुल लोधी की दावेदारी मजबूत
  • हाल ही में 28 विधानसभा सीटों पर हुआ था उपचुनाव
  • जयंत मलैया की नाराजगी दूर करना बीजेपी के लिए चुनौती

कुछ महीने पहले ही 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव देखने वाले मध्य प्रदेश में 17 अप्रैल को एक और उपचुनाव होने जा रहा है. चुनाव आयोग ने दमोह विधानसभा सीट पर उपचुनाव की तारीख का ऐलान कर दिया है. दमोह विधानसभा सीट पिछले साल अक्टूबर में उस समय रिक्त घोषित कर दी गई थी जब यहां से कांग्रेस के विधायक राहुल सिंह लोधी ने विधायक पद से इस्तीफा देकर भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ले ली थी.

उस समय 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव का कार्यक्रम तय हो चुका था इसीलिए दमोह विधानसभा सीट पर उपचुनाव तब संभव नहीं थे. चुनाव आयोग के मुताबिक 17 अप्रैल को दमोह विधानसभा सीट उपचुनाव में वोट डाले जाएंगे और मतगणना 2 मई को होगी. उपचुनाव के लिए नामांकन की आखिरी तारीख 30 मार्च रहेगी तो वही नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख 3 अप्रैल रखी गई है. 

भाजपा से राहुल लोधी की दावेदारी मजबूत

दमोह विधानसभा सीट पर होने जा रहे उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी की तरफ से राहुल सिंह लोधी की दावेदारी सबसे ज्यादा मजबूत मानी जा रही. क्योंकि राहुल सिंह लोधी कांग्रेस छोड़ भाजपा में आए हैं इसलिए माना जा रहा है कि भारतीय जनता पार्टी उन्हें ही अपना उम्मीदवार बनाएगी. पूर्व में कई बार मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष इस बात के संकेत दे चुके हैं.

हालांकि भाजपा के सामने चुनौती होगी कि वह दमोह से अपने पुराने और वरिष्ठ नेता जयंत मलैया की नाराजगी को कैसे दूर करती है क्योंकि मलैया दमोह से कई बार के विधायक और मंत्री रह चुके हैं लेकिन भाजपा यदि राहुल सिंह लोधी को यहां से अपना उम्मीदवार बनाती है तो जयंत मलैया के राजनीतिक भविष्य पर भी सवाल खड़े होंगे. 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें