scorecardresearch
 

नरयावली विधानसभा सीट: क्या कांग्रेस बीजेपी से छीन पाएगी ये सीट

कांग्रेस भी इस बार यहां से जीतने के लिए पूरा जोर लगा रही है. वहीं बसपा का वोट प्रतिशत पिछले चुनावों की अपेक्षा बढ़ सकता है. वर्ष 2013 के चुनाव के बाद से यहां अनुसूचित जाति के वोट पर बसपा नेताओं की नजर लगी हुई है.

नरयावली विधानसभा सीट. नरयावली विधानसभा सीट.

सागर की नरयावली विधानसभा सीट पर 2003 से बीजेपी के पास है. यहां विधायक हैं प्रदीप लारिया. वो 2008 और 2013 में बीजेपी की टिकट पर जीतकर आए थे. क्षेत्र के पिछले तीन चुनाव के से बीजेपी और कांग्रेस के बीच हार-जीत का अंतर कम होता जा रहा है.

कांग्रेस भी इस बार यहां से जीतने के लिए पूरा जोर लगा रही है. वहीं बसपा का वोट प्रतिशत पिछले चुनावों की अपेक्षा बढ़ सकता है. वर्ष 2013 के चुनाव के बाद से यहां अनुसूचित जाति के वोट पर बसपा नेताओं की नजर लगी हुई है.

पिछले साढ़े चार साल से कांग्रेस ने इस विधानसभा क्षेत्र में सक्रियता बढ़ाई है. बीजेपी के विधायक के अलावा अन्य दावेदार भी क्षेत्र में सक्रिय रहे हैं.

नरयावली सीट के जातीय समीकरण की बात की जाए तो यह सीट अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित है. अनुसूचित जाति वोट 50 प्रतिशत से अधिक होने से इन क्षेत्रों को आरक्षित किया गया है. नरयावली का चुनाव समीकरण दो वर्गों से जुड़ा है.  यहां अनुसूचित जाति के 70 हजार, अन्य पिछड़ा वर्ग के 50 हजार और सवर्ण वर्ग के 40 हजार मतदाता हैं. कांग्रेस की अजा वर्ग पर खास असर है, तो बीजेपी से अन्य पिछड़ा वर्ग और सवर्ण वर्ग का मतदाता जुड़ा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें