scorecardresearch
 

MP: उज्जैन में कोरोना वायरस का संदिग्ध मरीज, चीन के वुहान शहर से लौटा था

संदिग्ध मरीज के ब्लड सैंपल को पुणे की नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी भेजा गया है. यहां से रिपोर्ट आने के बाद ही साफ हो पाएगा कि छात्र को यह खतरनाक बीमारी है या नहीं. यह छात्र चीन के वुहान में रहकर मेडिकल की पढ़ाई कर रहा था.

X
डॉक्टरों की निगरानी में है संदिग्ध मरीज डॉक्टरों की निगरानी में है संदिग्ध मरीज

  • चीन के वुहान में रहकर मेडिकल की पढ़ाई कर रहा था छात्र
  • पुणे स्थित नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी भेजा गया सैंपल

मध्य प्रदेश के उज्जैन में एक मेडिकल छात्र को कोरोना वायरस का संदिग्ध मरीज माना गया है. छात्र कुछ दिन पहले ही चीन के वुहान शहर से लौटकर उज्जैन आया था. चीन से वापस उज्जैन आने के बाद छात्र में कोरोना वायरस जैसे लक्षण देखते हुए डॉक्टरों ने तुरंत उसे जिला चिकित्सालय में भर्ती कर ऑब्जरवेशन पर रखा है.

फिलहाल छात्र के ब्लड सैंपल को पुणे की नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ वायरोलॉजी भेजा गया है. वहां से रिपोर्ट आने के बाद ही साफ हो पाएगा कि छात्र को यह खतरनाक बीमारी है या नहीं. यह छात्र चीन के वुहान में रहकर मेडिकल की पढ़ाई कर रहा था.

बता दें कि चीन का वुहान शहर कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित है. कुछ दिन पहले ही यह छात्र चीन से उज्जैन अपने घर लौटा था और तब से ही उसे सर्दी और जुकाम था. जब छात्र सर्दी-जुकाम के लक्षण के साथ डॉक्टर के पास इलाज के लिए गया तो उसे आनन-फानन में उज्जैन के माधव नगर शासकीय अस्पताल में भर्ती कर लिया गया.

17 जनवरी को चीन से उज्जैन आया था

अस्पताल के स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर महेश मरमट ने बताया है कि यह छात्र 17 जनवरी को चीन से उज्जैन आया था और उसने दिल्ली एयरपोर्ट पर अपनी जांच (स्क्रीनिंग) नहीं कराई थी. उज्जैन आने के बाद उसे सर्दी, जुकाम व बुखार की तकलीफ हुई. कुछ दिन तक तो छात्र घर में ही रहा, लेकिन जब बुखार नहीं उतरा तो परिवार के लोग उसे अस्पताल लेकर आए जहां उसके लक्षणों को संदिग्ध मानते हुए भर्ती कर डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है.

Coronavirus Death in China: कोरोना वायरस से बढ़ा मौतों का आंकड़ा, 106 मरे, 1300 नए केस आए सामने

बता दें कि चीन में कई लोगों को मार चुके कोरोना वायरस से निपटने के लिए मध्य प्रदेश में सभी जिलों के सीएमएचओ और सिविल सर्जन के अलावा निजी अस्पतालों को गाइडलाइन भेजकर अलर्ट किया गया है. किसी भी शख्स में कोरोना वायरस के लक्षण मिलने पर संदिग्ध को अस्पताल में अलग से ऑब्जरवेशन में रखने को कहा गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें