scorecardresearch
 

भोपाल: कंपनी का सीमेंट दिखाकर बेचते थे मिलावटी, क्राइम ब्रांच ने मारा छापा

भोपाल क्राइम ब्रांच को लंबे समय से ब्रांडेड सीमेंट की बोरी में खराब और पुराना सीमेंट भरकर बेचने की शिकायतें मिल रही थी. सीमेंट कंपनियों से मिल रही शिकायतों के आधार पर क्राइम ब्रांच ने जब मामले की तफ्तीश शुरू की तो पता चला कि भोपाल के सूखी सेवनिया इलाके में स्थित एक सीमेंट गोडाउन में यह गोरखधंधा चल रहा है.

नकली सीमेंट की शिकायत पर रेड डालते अधिकारी नकली सीमेंट की शिकायत पर रेड डालते अधिकारी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पहले भी पप्पू धाकड़ के खिलाफ केस दर्ज हुए
  • भोपाल के सूखी सेवनिया में चल रहा था गोरखधंधा
  • असली सीमेंट का सैंपल दिखाते, नकली माल देते

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में क्राइम ब्रांच ने छापा मारकर ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो ब्रांडेड सीमेंट की बोरियों में नकली और मिलावटी सीमेंट भरकर लंबे समय से बेच रहा था.

दरअसल, भोपाल क्राइम ब्रांच को लंबे समय से ब्रांडेड सीमेंट की बोरी में खराब और पुराना सीमेंट भरकर बेचने की शिकायतें मिल रही थी. सीमेंट कंपनियों से मिल रही शिकायतों के आधार पर क्राइम ब्रांच ने जब मामले की तफ्तीश शुरू की तो पता चला कि भोपाल के सूखी सेवनिया इलाके में स्थित एक सीमेंट गोडाउन में यह गोरखधंधा चल रहा है.

क्राइम ब्रांच ने मंगलवार को अल्ट्राटेक सीमेंट कंपनी के एक सीनियर ऑफिसर को लेकर सूखी सेवनिया इलाके के इमलिया गांव में छापा मारा. यहां पप्पू धाकड़ और उसकी पत्नि ममता धाकड़ का सीमेंट गोडाउन और दुकान है. क्राइम ब्रांच की छापेमारी के दौरान मौके पर क्वालिटी एक्सपर्ट ने सीमेंट के नकली होने की पुष्टि की. यहां नकली सीमेंट को अल्ट्राटेक कंपनी का बताकर बेचने के लिए रखा गया था.

भोपाल में पकड़ा गया नकली सीमेंट का गोदाम (फोटो-रवीश)
भोपाल में पकड़ा गया नकली सीमेंट का गोदाम (फोटो-रवीश)

छापेमारी के दौरान गोडाउन में शुभम जैन नाम का एक कर्मचारी और मैनेजर अनिल जैन पाए गए लेकिन पूछताछ पर सीमेंट की क्वालिटी और उसके बिलों के बारे में कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाए. 

बेचते थे मिलावटी सीमेंट
क्राइम ब्रांच के मुताबिक दुकान का नाम आयुष ट्रैडर्स है. यहां असली अल्ट्राटेक सीमेंट की 43 बोरिया रखी हुई थीं. दुकान मालिक सीमेंट कंपनी का असली सीमेंट वाला सैंपल ग्राहकों को दिखाकर उसके स्थान पर दुकान के पीछे स्थित गोडाउन से ब्रांडेड सीमेंट कंपनी की बोरियों में पहले से भरकर रखा गया नकली सीमेंट बेच देते थे. इस प्रकार के नकली सीमेंट से मकानों में दरारें, टूट-फूट और अन्य कई प्रकार की समस्याएं आती थी जिससे उन्हें बहुत नुकसान भी होता था.

देखें: आजतक LIVE TV

छापेमारी के दौरान दुकान और गोडाउन में अल्ट्राटेक कंपनी के लोगो वाली 143 बोरियों में नकली सीमेंट, 10 ड्यूरागार्ड सीमेंट की भरी बोरी, 43 अल्ट्राटेक सीमेंट की असली भरी बोरी, 210 नग अल्ट्राटेक सीमेंट की नकली खाली नई बोरियां, 5 बोरिया में ड्यूरागार्ड सीमेंट का छना हुआ कचरा जब्त किया गया है. अल्ट्राटेक सीमेंट की एक भरी बोरी की बाजार में कीमत 340 रुपये है. 

क्राइम ब्रांच के मुताबिक आयुष ट्रैडर्स के मालिक पप्पू धाकड़ और ममता धाकड़ मौके से फरार हो गए, जिनकी तलाश की जा रही है. पप्पू धाकड़, ममता धाकड़, शुभम जैन और अनिल जैन के खिलाफ धारा 63, 65 कॉपीराइट एक्ट एवं धारा 420 के तहत मामला दर्ज किया गया है. क्राइम ब्रांच के मुताबिक इसके पहले भी थाना क्राइम ब्रांच द्वारा पप्पू धाकड़ के खिलाफ मामला दर्ज किया जा चुका है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें