scorecardresearch
 

MP: कम से कम 3 बच्चे पैदा करें हिंदू, बोले विहिप नेता मिलिन्द परांडे

मिलिन्द परांडे ने हिन्दू युवाओं को विवाह के बाद 2 से 3 पैदा करने की अपील की. उन्होंने कहा कि हर युवा को यह सोचना चाहिए कि विवाह के बाद हर हिन्दू घर में कम से कम 2 से 3 बच्चे होने ही चाहिए.

वीएचपी नेता मिलिन्द परांडे (बीच में, फाइल फोटो- ट्विटर) वीएचपी नेता मिलिन्द परांडे (बीच में, फाइल फोटो- ट्विटर)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हिन्दू कम से कम 3 बच्चे पैदा करें, नहीं तो अस्तित्व पर होगा संकट
  • विहिप के केंद्रीय महामंत्री मिलिन्द परांडे का बयान

विश्व हिन्दू परिषद के केंद्रीय महामंत्री मिलिन्द परांडे ने हिन्दू युवाओं को विवाह के बाद 2 से 3 पैदा करने की सार्वजनिक मंच से सलाह दी है. उन्होंने कहा कि अगर हिन्दुओं की आबादी घटी तो फिर उनका अस्तित्व ही संकट में आ जाएगा.

दरअसल, खण्डवा में विश्व हिन्दू परिषद् और बजरंग दल द्वारा संयुक्त रूप से हिन्दू युवा सम्मलेन का आयोजन किया गया था, जिसमे बड़ी संख्या में युवाओं ने हिस्सा लिया. इसमें त्रिशूल दीक्षा भी दी गई और लव-जेहाद, धर्मांतरण, गौ-हत्या रोकने का संकल्प भी दिलाया गया. इस दौरान मिलिन्द परांडे ने हिन्दू युवाओं को विवाह के बाद 2 से 3 पैदा करने की अपील की. उन्होंने कहा कि हर युवा को यह सोचना चाहिए कि विवाह के बाद हर हिन्दू घर में कम से कम 2 से 3 बच्चे होने ही चाहिए. जहां पर हमारी आबादी कम हो जायेगी, हिन्दू के लिए अस्तित्व का एक संकट खड़ा हो जायेगा और इसीलिए सिर्फ खुद के लिए नहीं, बल्कि समाज की रक्षा के लिए भी हर हिन्दू परिवार में 2 -3 बच्चे हों.

मिलिंद परांडे ने कहा कि ब्रिटिशों से जब 1857 का स्वतंत्रता संग्राम हुआ तो उन्हें लगा कि हजारों साल से ये हिन्दू समाज आपस में लड़ रहा है, अभी भी थका नहीं. हिन्दू समाज अपने इतिहास से प्रेरणा लेता है और इसलिए हिंदुओं का इतिहास से संबंध तोड़ा गया ताकि हिन्दू समाज को प्रेरणा ही न मिले इसलिए उन्होंने हमारी शिक्षा पद्धति को भ्रष्ट कर दिया. इसलिए हमको अपने पूर्वजों के बारे में सोचने पर ग्लानि होती है. जिस भी समाज में अपने पूर्वजों के नाम पर शर्म लगने लगती है वह समाज ज्यादा दिन जीवित नहीं रहता.  

मिलिंद परांडे ने कहा कि 'हिन्दू की आबादी कम हो रही है, धर्मांतरण का खतरा भी बढ़ रहा है और मुस्लिम समाज की आबादी बढ़ रही है. जहां हिन्दू आबादी घट जाती है, देश की अखंडता का खतरा बढ़ जाता है. यही इतिहास है. इस देश को पुनः खंडित न होने के लिए हिन्दू आबादी ही बड़े प्रमाण में चाहिए. हिन्दू आबादी कम नहीं होनी चाहिए यह बहुत आवश्यक है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×