scorecardresearch
 

MP: चलती बस में ड्राइवर को आया हार्ट अटैक, जानिए फिर क्या हुआ

चलती बस में ड्राइवर को हार्ट अटैक आ गया, लेकिन ड्राइवर ने सीने में असहनीय दर्द के बावजूद होश खोने से पहले रफ्तार से चल रही बस को सड़क किनारे खड़ा किया, जिसके बाद वो बेसुध हो गया.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर

  • हार्ट अटैक आने के बाद ड्राइवर ने बस को रोका
  • अस्पताल जाते वक्त ड्राइवर की मौत

मध्यप्रदेश के बैतूल में एक बस ड्राइवर की सूझबूझ से बस दुर्घटना होने से बच गई, लेकिन दुख की बात ये है कि बस ड्राइवर की इस दौरान मौत हो गई. दरअसल, मामला बैतूल जिले के मंगोना खुर्द गांव का है, जहां चलती बस में ड्राइवर को हार्ट अटैक आ गया, लेकिन ड्राइवर ने सीने में असहनीय दर्द के बावजूद होश खोने से पहले रफ्तार से चल रही बस को सड़क किनारे खड़ा किया, जिसके बाद वो बेसुध हो गया.

ड्राइवर की हालत देख लोगों ने 108 एम्बुलेंस सेवा को कॉल किया. मौके पर आई एम्बुलेंस जब ड्राइवर को लेकर अस्पताल जा रही थी, तो उसने रास्ते मे दम तोड़ दिया. मृतक का नाम संतोष हरोडे है, जो प्रभात पट्टन से सारणी के बीच चलने वाली एक निजी बस में ड्राइवर थे. रोज की तरह इस सुबह भी संतोष सवारी लेकर जा रहे थे, लेकिन ये सफर उनकी ज़िंदगी का आखिरी सफर साबित हुए.

हार्ट अटैक आने के बाद भी चलाते रहे बस

हालांकि गनीमत इस बात की रही की हार्ट अटैक आने के बावजूद संतोष ने हिम्मत नहीं हारी और सवारियों को सुरक्षित रखने के लिए बस को सड़क किनारे खड़े कर दिया. संतोष को अस्पताल में लाने पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

एक बार पड़ चुका था दिल का दौरा

बताया जा रहा है कि संतोष पहले से हृदय रोग से पीड़ित थे और उन्हें इससे पहले भी एक बार दिल का दौरा पड़ चुका था. उस वक़्त भी संतोष का कई दिनों तक इलाज चला था. फिलहाल पुलिस ने मामले में मुकदमा कायम कर लिया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें