scorecardresearch
 

मध्य प्रदेश के कई शहरों में बारिश और बाढ़ ने तोड़ा रिकॉर्ड, अब तक 10 की मौत

मध्य प्रदेश के कई शहरों में बारिश और बाढ़ ने रिकॉर्ड तोड़ दिया है. उज्जैन से लेकर होशंगाबाद और विदिशा तक में घरों में पानी घुस गया. लगातार बरसात से किनारा तोड़कर शिप्रा नदी जहां एक ओर कहर ढाह रही है, वहीं अब तक तेज बारिश के कारण बहकर 10 लोगों के जान जाने की खबर है. मौसम विभाग ने अगले दो दिन के लिए सख्त चेतावनी जारी की है.

बारिश से बेहाल मध्य प्रदेश बारिश से बेहाल मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश के कई शहरों में बारिश और बाढ़ ने रिकॉर्ड तोड़ दिया है. उज्जैन से लेकर होशंगाबाद और विदिशा तक में घरों में पानी घुस गया. लगातार बरसात से किनारा तोड़कर शिप्रा नदी जहां एक ओर कहर ढाह रही है, वहीं अब तक तेज बारिश के कारण बहकर 10 लोगों के जान जाने की खबर है. मौसम विभाग ने अगले दो दिन के लिए सख्त चेतावनी जारी की है.

पिछले 48 घंटे से जारी बारिश का प्रकोप बढ़ने के बीच सीहोर जिले में बरसाती नाले में पानी बढ़ने से 12 लोग बह गए हैं. बताया जाता है कि सभी लोग तीन परिवारों से संबंध रखते हैं. इनमें से 9 लोगों के शव को बरामद किया गया है. इनमें 7 शव बच्चों के हैं, जिनकी उम्र 14 साल से कम बताई जा रही है. सीहोर में ही रविवार को एक बच्चा उफनते नाले में बह गया था, जिसका शव सोमवार को बरामद किया गया. प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया कि नाले से बरामद शव की शिनाख्त तीन साल के विशाल के रूप में हुई है. वह जीएनटी मार्केट के पास अपने दोस्तों के साथ खेलते वक्त लकड़ी के बने कामचलाउ पुल से फिसलकर उफनते नाले में बह गया था.

लगातार हो रही बारिश के कारण कुशवाह नगर और नंदबाग समेत कई इलाकों की निचली बस्तियों में अब भी पानी भरा है. अब तक इन बस्तियों के 1,000 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित बाहर निकालकर राहत शिविरों तक पहुंचाया गया है. बचाव अभियान में नावों का इस्तेमाल भी किया जा रहा है. शहर की प्रमुख सड़कों पर जल जमाव बरकरार है. इससे यातायात बुरी तरह बाधित हो रहा है. बस रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (बीआरटीएस) के कोई साढ़े ग्यारह किलोमीटर लम्बे गलियारे पर बारिश का पानी भरने से इस मार्ग पर बसों का संचालन सोमवार को लगातार दूसरे दिन प्रभावित रहा. बारिश से रेल और हवाई यातायात पर भी खासा असर पड़ा.

बारिश के मद्देनजर प्रशासन के आदेश पर शहर के आंगनबाड़ी केंद्र और स्कूल बंद रहे. प्रशासन ने 21 जुलाई को भी आंगनबाड़ी केंद्र और स्कूल बंद रखने का आदेश दिया है.

चंडीगढ़, हरियाणा और पंजाब में भारी बारिश
हरियाणा और पंजाब के कई भागों में भारी बारिश होने से तापमान दो डिग्री गिर गया. मौसम विभाग ने बताया कि सोमवार सुबह 10 बजकर 45 मिनट के आसपास चंडीगढ़ में भारी बारिश होने से कई सड़कों और निचले इलाकों में पानी जमा हो गया. सड़कों पर पानी जमा होने के कारण खासकर दो पहिया वाहन से आने जाने वाले लोगों को काफी मुश्किलें हुई.

हालांकि, कुछ डिग्री तापमान गिरने से पिछले कुछ दिनों से गर्मी झेल रहे लोगों को राहत मिली. मौसम विभाग ने बताया कि हरियाणा में खासकर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र गुड़गांव, फरीदाबाद, रेवाड़ी और सोनीपत में सुबह में बारिश हुई. अंबाला, पंचकुला, यमुनानगर, करनाल सहित हरियाणा के कुछ अन्य जगहों पर भी बारिश हुई. मोहाली, रोपड़, फगवाड़ा, पटियाला और लुधियाना सहित पंजाब के कई जगहों पर बादल छाए रहे.

दिल्ली में सुबह-सु‍बह बारिश
राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोमवार सुबह बारिश हुई, जिसके कारण न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस नीचे 24.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. सफदरजंग वेधशाला ने सुबह आठ बज कर 30 मिनट पर 3.4 मिलीमीटर बारिश दर्ज की. सुबह को 95 फीसदी आद्रत दर्ज की गई. अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री सेल्सियस अधिक 34.7 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें