scorecardresearch
 

ग्वालियर में पटवारी के पास 20 करोड़ की संपत्ति

ग्वालियर में लोकायुक्त पुलिस ने कल छापा मारकर एक पटवारी के पास लगभग 20 करोड़ की आय से अधिक संपत्ति होने का खुलासा किया है.

ग्वालियर में लोकायुक्त पुलिस ने कल छापा मारकर एक पटवारी के पास लगभग 20 करोड़ की आय से अधिक संपत्ति होने का खुलासा किया है.

लोकायुक्त के पुलिस अधीक्षक संतोष गौर ने आज यहां बताया कि लोकायुक्त पुलिस ने पिछले साल पटवारी के पद से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेने वाले राकेश गुप्ता के ग्वालियर और दतिया में तीन ठिकानों पर छापे मारे गए और वहां से डेढ़ लाख रुपये नगद सहित लगभग 20 लाख रुपये के कागजात बरामद किए हैं.

उन्होंने कहा कि राकेश ने 20 साल की नौकरी में इतनी संपत्ति जुटाई कि इसकी वर्तमान कीमत 20 करोड़ से भी अधिक है, जबकि इस अवधि का वेतन लगभग 20 लाख ही बनता है. गौर ने बताया कि पूर्व पटवारी का दतिया में 40 बीघा का फॉर्महाउस है, जिसकी कीमत करीब 16 करोड़ रुपये आंकी गई है.

उन्होंने कहा कि तीन दलों ने सुबह पांच बजे ही राकेश गुप्ता के ग्वालियर और दतिया में स्थित तीन ठिकानों पर छापा मारा. गौर ने बताया कि पटवारी के खिलाफ कई शिकायतें आई थीं, जिन पर कार्रवाई करते हुए छापे मारे गए. गौर ने बताया कि पटवारी राकेश गुप्ता की नौकरी वर्ष 1993 में लगी थी.

शाही तालाब में विदेशी नस्‍ल की मछलियां
उसने वर्ष 2013 में वीआरएस ले लिया. इस अवधि में उसे लगभग 20 लाख रुपये का वेतन मिला. इस 20 साल की नौकरी में वह 15 साल दतिया में एक ही स्थान पर पदस्थ रहा. उन्होंने कहा कि राकेश ने दतिया में अब भी सरकारी आवास पर कब्जा कर रखा है. गौर ने बताया कि पटवारी के बड़ोनी तिराहा स्थित फॉर्महाउस पर शाही तालाब में विदेशी नस्ल की मछलियां और पक्षी भी मिले. इसके अलावा भैंस-गाय के दूध की डेयरी, ढाई बीघा भूमि पर गुलाब की खेती भी की जा रही है. फॉर्म हाउस में आठ कमरे, एक हाल, विदेशी पौधों के लिए ग्रीनरी, गोबर गैस प्लांट और फॉर्महाउस कीमती कारपेट घास से सजा हुआ था.

उन्‍होंने कहा कि विदेशी नस्ल के पशु-पक्षियों के मामले में कार्रवाई के लिए वन विभाग के अफसर भी फॉर्महाउस पर पहुंचे. गौर ने बताया कि इस मामले में एक प्रकरण दर्ज करा दिया गया है और अभी आगे की जांच चल रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें