scorecardresearch
 

थाईलैंड से बेटी का शव लाना चाहता है MP का परिवार, लेकिन किसी के पास पासपोर्ट नहीं

सीएम कमलनाथ ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए लिखा कि प्रदेश के छतरपुर की बेटी प्रज्ञा पालीवाल की ट्रेनिंग के दौरान थाईलैंड के फूकेट शहर में हादसे में हुई मौत की खबर बेहद दुखद है. परिवार के किसी सदस्य के पास पासपोर्ट नहीं, पार्थिव शरीर लाने में दिक्कत हो रही है. परिवार परेशान ना हो, सरकार आपके साथ है.

थाईलैंड में सड़क हादसे में लड़की की मौत (फाइल फोटो) थाईलैंड में सड़क हादसे में लड़की की मौत (फाइल फोटो)

  • थाईलैंड में कार हादसे में मध्य प्रदेश की लड़की की मौत
  • विदेश मंत्रालय से चर्चा करके शव को लाने की कोशिश

मध्य प्रदेश के छतरपुर की रहने वाली एक लड़की प्रज्ञा पालीवाल की थाईलैंड में एक सड़क दुर्घटना में मौत हो गई है लेकिन उसका शव भारत लाने में परिवार को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

दरअसल, मध्य प्रदेश के छतरपुर की रहने वाली प्रज्ञा बेंगलुरु की एक निजी कंपनी में जॉब करती थी और कंपनी के काम से ही फुकेट गई थी. जहां सड़क हादसे में उनकी मौत हो गई. प्रज्ञा के परिवार को इस घटना की जानकारी बुधवार को मिली. जिसके बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है.

शव लेने जाने में आ रही ये परेशानी

वहीं परिजनों की यह भी समस्या ये है कि परिवार के किसी भी सदस्य के पास पासपोर्ट नहीं है, जिसकी वजह से वो थाईलैंड जाकर बेटी का शव नहीं ला पा रहे हैं. छतरपुर से कांग्रेस विधायक आलोक चतुर्वेदी ने घटना की गंभीरता को देखते हुए पीएमओ और विदेश मंत्रालय को ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा कि 'छतरपुर मप्र की छात्रा प्रज्ञा पालीवाल का थाईलैंड के फुकेट शहर में हादसे के कारण निधन हो गया है. परिवार के किसी सदस्य के पास पासपोर्ट नहीं है, जिस कारण थाईलैंड से उसका शव लाने में कई दिक्कतें आ रही हैं'.

सीएम कमलनाथ ने दिया मदद का भरोसा

मामला सामने आने के बाद और शव भारत लाने में हो रही परेशानी को देखते हुए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने हस्तक्षेप किया है. उन्होंने परिवार को मदद का भरोसा दिलाते हुए कहा कि सरकार पूरी तरह से दुखी परिवार के साथ है. सीएम कमलनाथ ने गुरुवार को ट्वीट करते हुए लिखा कि 'प्रदेश के छतरपुर की बेटी प्रज्ञा पालीवाल के ट्रेनिंग के दौरान थाईलैंड के फूकेट शहर में हादसे में हुई मौत की खबर बेहद दुखद है. परिवार के किसी सदस्य के पास पासपोर्ट नहीं, पार्थिव शरीर लाने में दिक्कत हो रही है. परिवार परेशान ना हो, सरकार आपके साथ है.

सीएम कमलनाथ ने हर संभव मदद करने का आश्वासन देते हुए कहा कि विदेश मंत्रालय से चर्चा करके शव को लाने की कोशिश की जाएगी. साथ ही कमलनाथ ने यह भी कहा कि अगर परिवार का कोई सदस्य वहां जाना चाहे तो उसका भी सरकार पूरा इंतज़ाम करेगी'.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें