scorecardresearch
 

MP: भोपाल में हुई गौ-कैबिनेट की पहली बैठक, गाय के लिए रिसर्च सेंटर बनाने की घोषणा

मध्यप्रदेश में बनी गौ-कैबिनेट की पहली बैठक आज भोपाल में संपन्न हुई. पहले ये बैठक आगर केगौ-अभ्यारण्य में होनी थी लेकिन उसे रद्द करते हुए रविवार को भोपाल में ये बैठक हुई.

गौ-कैबिनेट की बैठक में मौजूद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान गौ-कैबिनेट की बैठक में मौजूद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गौ-शालाओं को स्वावलंबी बनाया जाएगा
  • गाय के लिए रिसर्च सेंटर बनाने की हुई घोषणा
  • गौ-कैबिनेट की पहली बैठक भोपाल में संपन्न

मध्यप्रदेश में बनी गौ-कैबिनेट की पहली बैठक आज भोपाल में संपन्न हुई. पहले ये बैठक आगर के गौ-अभ्यारण्य में होनी थी लेकिन उसे रद्द करते हुए रविवार को भोपाल में ये बैठक हुई. इस पहली गौ-कैबिनेट बैठक में फैसला लिया गया है कि आगर स्थित गौ-अभ्यारण्य  में गायों का एक रिसर्च सेंटर बनेगा.

इसके अलावा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि 'गौ-शालाओं को स्वावलंबी बनाया जाएगा. गाय के गोबर और गौ मूत्र का हम कैसे बेहतर उपयोग करें, इस पर सुझाव लेकर काम भी शुरू करेंगे'. मुख्यमंत्री ने बताया कि 'स्व-सहायता समूहों को गौ शाला का संचालन किए जाने पर सहमति दी गई है. साथ ही तय किया गया है कि बड़ी संख्या में गौशाला बनाई जाएगी, इसके लिए समाज का सहयोग लिया जाएगा'. 

देखें आजतक LIVE TV

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मुताबिक 'पर्यावरण बचाने प्रदेश में गो-काष्ठ का उपयोग बढ़ाएंगे. सिर्फ पशुपालन विभाग नहीं अन्य सभी विभाग भी मिलकर भूमिका निभाएंगे क्योंकि, गौसेवा सिर्फ एक विभाग का काम नहीं है'. गौ-कैबिनेट में तय किया गया कि 'नगरीय क्षेत्रो में निराश्रित गौवंश के संरक्षण के लिए नगरीय निकायों को जोड़ा जाएगा'. 

गौ-कैबिनेट के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आगर स्थित गौ-अभ्यारण्य के लिए रवाना हो गए जहां माना जा रहा है कि गौ-संरक्षण के लिए मुख्यमंत्री और भी घोषणाएं कर सकते हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें