scorecardresearch
 

कांग्रेस ने अब कहां की सीएम शिवराज सिंह चौहान की शिकायत?

शिवराज सिंह की सभा में बड़ी संख्या में स्कूली बच्चों को शामिल करने पर कांग्रेस ने उनकी घेराबंदी की है. साथ ही कांग्रेस ने इसकी शिकायत बकायदा बाल संरक्षण आयोग में की है.

शिकायत पत्र सौंपती हुईं कांग्रेस नेत्री शोभा ओझा शिकायत पत्र सौंपती हुईं कांग्रेस नेत्री शोभा ओझा

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इन दिनों जनआशिर्वाद यात्रा निकाल रहे हैं, जिसमें बड़ी तादाद में लोग सीएम शिवराज को सुनने पहुंच रहे हैं. लेकिन जनआशीर्वाद यात्रा की भीड़ में स्कूली बच्चों को लाने पर अब कांग्रेस ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को कटघरे में खड़ा किया है और इसकी शिकायत बकायदा बाल संरक्षण आयोग में की है.

दरअसल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की जनआशीर्वाद यात्रा मंगलवार को सिवनी जिले में पहुंची, जहां शिवराज की सभा में बड़ी संख्या में स्कूली बच्चों को भी लाया गया था. उनके हाथ में तख्तियों के अलावा गले में बीजेपी के पट्टे भी थे जिसे खुद जनआशीर्वाद यात्री के ट्विटर हैंडल से ट्वीट भी किया गया.

ट्वीट के साथ लिखा था, 'मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान केवलारी विधानसभा क्षेत्र के छुई ग्राम में समृद्ध नए मध्यप्रदेश के निर्माण के लिए नागरिकों से आशीर्वाद लिया.' इस ट्वीट को शिवराज सिंह चौहान ने बाद में अपने हैंडल से रीट्विट भी किया.

बुधवार को कांग्रेस ने जनआशीर्वाद यात्रा में इन्हीं तस्वीरों को आधार बनाते हुए आरोप लगाया कि जनआशीर्वाद यात्रा में भीड़ बढ़ाने के लिए स्कूली छात्रों को यात्रा मार्ग में लाया जाता है और कई बार घंटों शिवराज सिंह चौहान का इंतजार करवाया जाता है.

बुधवार को मध्यप्रदेश कांग्रेस की मीडिया विभाग की अध्यक्षा शोभा ओझा समेत कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने जनआशीर्वाद यात्रा में स्कूली बच्चों को लाने पर बाल अधिकार संरक्षण आयोग में सीएम शिवराज सिंह चौहान की शिकायत की और आरोप लगाया कि जनआशीर्वाद यात्रा में बाल अधिकारों का हनन हो रहा है. कांग्रेस ने आरोप लगाया कि जहां-जहां से भी जनआशीर्वाद यात्रा गुजर रही है वहां इसी तरह की तस्वीर देखने को मिल रही है.

बच्चों को भीड़ बढ़ाने का जरिया ना बनाएं प्रशासन: कांग्रेस

कांग्रेस ने बाल अधिकार संरक्षण आयोग को दिए शिकायती आवेदन में आग्रह किया है कि आयोग प्रदेश के मुख्य सचिव को यह अनुशंसा करें कि वे सभी कलेक्टरों को इस आशय का पत्र जारी करें कि मुख्यमंत्री की जनआशीर्वाद यात्रा के दौरान भीड़ बढ़ाने के लिये भविष्य में बच्चों को ना लगाया जाये. इसके अलावा कांग्रेस ने मांग की है कि जहां-जहां अभी तक जनआशीर्वाद यात्रा में स्कूली बच्चों को लााया गया था, उस इलाके के संबंधित प्रशासनिक अधिकारियों के खिलाफ बाल संरक्षण अधिनियम के तहत कार्रवाई की जाए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें