scorecardresearch
 

MP: जन्मदिन से पहले CM कमलनाथ ने कार्यकर्ताओं को दिया यह बड़ा आदेश

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपील करते हुए कहा कि प्रदेश हित में इस निर्णय का सभी पालन करें. पोस्टरों और होर्डिंग पर होने वाले अनावश्यक खर्च का उपयोग मानव सेवा और परोपकार के कार्य में करें.

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (फोटो-IANS) मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ (फोटो-IANS)

  • कमलनाथ बोले-जन्मदिन खर्च का उपयोग मानव सेवा और परोपकार में करें
  • कमलनाथ ने की अपील- अवैध होर्डिंग पर बैन के निर्णय का सभी पालन करें

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ का 18 नवंबर को जन्मदिन है. इस दिन वह 73 साल के हो जाएंगे. आमतौर पर नेताओं के जन्मदिन पर कार्यकर्ता पूरे शहर को बधाई के पोस्टरों से पाट देते हैं लेकिन मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कार्यकर्ताओं से अपने जन्मदिन पर ऐसा न करने की अपील की है.

कार्यकर्ताओं और प्रशंसकों की अपील

जन्मदिन से 24 घंटे पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं और अपने प्रशंसकों से अपील करते हुए कहा कि 'सभी कांग्रेसजनों, शुभचिंतकों, स्नेहीजनों और प्रशंसकों से मेरी विनम्र अपील है कि मेरे जन्मदिवस के अवसर पर प्रदेश में कहीं भी होर्डिंग, पोस्टर या बैनर लगाकर प्रदेश को बदरंग न करें और नियमों का पालन करें.

आगे उन्होंने कहा, मैंने पिछले दिनों ही ये फैसला लिया है कि प्रदेश की खूबसूरती बिगाड़ने और यातायात में बाधा बनते व दुर्घटनाओं को खुला न्योता देते इन अवैध होर्डिंगों को न लगाया जाए. इन अवैध होर्डिंगों से प्रदेश को बदरंग होने से बचाने के लिए व जनता की सुरक्षा की दृष्टि से इन पर प्रतिबंध लगाया गया है.

सभी फैसले का पालन करें

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपील करते हुए कहा, 'प्रदेश हित में इस निर्णय का सभी पालन करें. इसके आगे मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा है कि 'पोस्टरों और होर्डिंग पर होने वाले अनावश्यक खर्च का उपयोग मानव सेवा और परोपकार के कार्य में करें. प्रशासन को भी स्पष्ट निर्देश है कि प्रदेश में मेरे जन्मदिवस पर कहीं भी अवैध होर्डिंग, पोस्टर या बैनर लगे दिखे, भले उसमें मेरा फोटो लगा हो, तत्काल उसे हटा दें और नियम के पालन में कोई कोताही ना बरतें. चाहे वो होर्डिंग किसी भी व्यक्ति, संगठन या संस्था द्वारा लगाया गया हो'.

आपको बता दें कि हाल ही में स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट के जन्मदिन पर इंदौर में लगे उनके पोस्टरों को इंदौर नगर की टीम जब उतारने गई थी, तभी सिलावट समर्थकों और प्रशंसकों ने निगम की टीम पर हमला कर दिया. इस घटना के बाद सीएम कमलनाथ ने प्रदेश में अवैध होर्डिंग और पोस्टरों को सख्ती के साथ हटाने के निर्देश दिए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें