scorecardresearch
 

नागरिकता कानून पर 'मोदी' को मिला दिग्विजय के भाई 'लक्ष्मण सिंह' का साथ

ये पहली बार है जब लक्ष्मण सिंह ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ आवाज उठाई हो. इससे पहले लक्ष्मण सिंह ने मध्य प्रदेश में 10 दिन के भीतर कर्जमाफी ना होने पर राहुल गांधी पर निशाना साधा था और उनसे मध्य प्रदेश के किसानों से माफी मांगने को कहा था.

कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह

  • लक्ष्मण सिंह ने ट्वीट कर कहा- अब इसे स्वीकार कर आगे बढ़ो
  • कुछ दिन पहले ही सीएम कमलनाथ ने अपना बयान दिया था

अपने बयानों और पार्टी लाइन से अलग हटकर बोलने वाले कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के चांचौड़ा से कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने एक बार फिर अपने मन की बात ट्विटर के जरिए सार्वजनिक की है.

स्वीकार करें कानून

कांग्रेस विधायक लक्ष्मण सिंह ने नागरिकता संशोधन बिल पर कांग्रेस पार्टी से अलग राय रखते हुए शुक्रवार शाम एक ट्वीट किया और लिखा कि 'अब इसे स्वीकार कर आगे बढ़ना चाहिए.' 

आपको बता दें कि शुक्रवार को ही मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मध्य प्रदेश में नागरिकता संशोधन बिल के लागू होने पर आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा है कि 'बिल पर जो रुख अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी कमिटी का है वहीं रुख मध्य प्रदेश सरकार का भी रहेगा.' जाहिर है कांग्रेस नागरिकता संसोधन बिल का विरोध कर रही है. ऐसे में कमलनाथ ने मध्य प्रदेश में इसके ना लागू करने के संकेत ही दिए हैं.

अपनी पार्टी के खिलाफ बोले लक्ष्मण सिंह

ये पहली बार नहीं है जब लक्ष्मण सिंह ने अपनी ही पार्टी के खिलाफ आवाज उठाई हो. इससे पहले लक्ष्मण सिंह ने मध्य प्रदेश में 10 दिन के भीतर कर्जमाफी ना होने पर राहुल गांधी पर निशाना साधा था और उनसे मध्य प्रदेश के किसानों से माफी मांगने को कहा था. वहीं चांचौड़ा को जिला बनाने की मांग को लेकर वो अपने भाई और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के बंगले के बाहर अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें