scorecardresearch
 

कोरोना: भोपाल में मास्क ना पहनने पर सख्ती, 100 से ज्यादा लोगों से वसूला जुर्माना

भोपाल के कलेक्टर अविनाश लवानिया के आदेश पर सभी एसडीएम ने अपने-अपने इलाकों में औचक निरीक्षण अभियान चलाया और मास्क ना पहनने वालों का चालान काटकर उनसे मौके पर ही जुर्माना वसूला. इसके अलावा कई लोगों को मास्क पहनने की नसीहत देकर छोड़ा गया. 

भोपाल में मास्क ना पहनने पर सख्ती भोपाल में मास्क ना पहनने पर सख्ती
स्टोरी हाइलाइट्स
  • भोपाल में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना वायरस के मामले
  • कलेक्टर के आदेश पर सभी एसडीएम ने चलाया अभियान
  • मास्क ना पहनने वालों का कटा चालान

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में लगातार बढ़ते कोरोना वायरस के बाद प्रशासन ने सख्ती शुरू कर दी है. प्रशासन के निशाने पर वह लोग हैं जो सार्वजनिक जगहों पर निकल तो रहे हैं लेकिन मास्क नहीं पहन रहे हैं. गुरुवार को भोपाल के कलेक्टर अविनाश लवानिया के आदेश पर सभी एसडीएम ने अपने-अपने इलाकों में औचक निरीक्षण अभियान चलाया और मास्क ना पहनने वालों का चालान काटकर उनसे मौके पर ही जुर्माना वसूला. इसके अलावा कई लोगों को मास्क पहनने की नसीहत देकर छोड़ा गया. 

दरअसल, ठंड बढ़ने के साथ ही भोपाल में कोरोना के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं, लेकिन सार्वजनिक जगहों पर लोग ना तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे हैं और ना ही मास्क लगाने को लेकर ज्यादा गंभीर दिख रहे हैं. लोगों की यही लापरवाही उन पर भारी पड़ सकती है जिसका खामियाजा बाद में शहर को भी भुगतना पड़ सकता है. इसलिए अब प्रशासन ने कोरोना गाइडलाइंस का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्ती शुरू कर दी है.

गुरुवार को भोपाल कलेक्टर अविनाश लवानिया के निर्देश पर जिले के सभी एसडीएम ने अपने-अपने क्षेत्रों में मास्क पहनों अभियान चलाया. इसके अंतर्गत विभिन्न दुकानों, चौराहों, मार्केट में लगातार निरीक्षण किया गया और मास्क नहीं लगाए लोगों को मास्क लगाने के लिए समझाया गया. इसके साथ ही जिन लोगों द्वारा मास्क नहीं लगाया गया था या मास्क उनके पास नहीं था उनके चालान काटे गए.

देखें: आजतक LIVE TV

गुरुवार को हुए आकस्मिक निरीक्षण के दौरान 100 से अधिक लोगों के चालान बनाकर जुर्माना वसूलने की कार्रवाई की गई है. जिन लोगों ने मास्क नहीं लगाया गया था उन्हें मास्क लगाने की हिदायत देने के साथ ही 100-100 रुपये का चालान भी किया गया. 

इसके साथ ही दुकानदारों को भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने के साथ ही बिना मास्क वाले ग्राहकों को सामान नहीं बेचने और खुद भी मास्क लगाने के निर्देश दिए गए.  हालांकि, प्रशासन की सख्ती के दौरान कई लोग मास्क ना पहनने पर अलग-अलग तरह के बहाने बनाते नजर आए तो वहीं, कुछ लोग जुर्माना काटने पर प्रशासनिक अफसरों पर ही बरस पड़े. हालांकि, इसका कोई असर नहीं हुआ और मास्क नहीं लगाने वालों को जुर्माना देने के बाद ही छोड़ा गया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें