scorecardresearch
 

CAA के विरोध पर शाह बोले- कमलनाथ जी... ये जोर से बोलने की उम्र नहीं, सेहत बिगड़ जाएगी

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध पर अमित शाह ने कहा है कि कमलनाथ जोर-जोर से कहते हैं कि CAA लागू नहीं होगा. अरे कमलनाथ जी ये जोर से बोलने की आयु नहीं है आपकी, स्वास्थ बिगड़ जाएगा आपका. अगर इतना जोर बाकी है तो मध्य प्रदेश को ठीक करिए.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (फोटो-PTI) केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (फोटो-PTI)

  • CAA पर बीजेपी एक जन जागरण अभियान चला रही
  • केजरीवाल, ममता कम्युनिस्ट देश को गुमराह कर रहे

केंद्रीय गृह मंत्री और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) का विरोध करने को लेकर मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ को आड़े हाथों लिया है. अमित शाह ने कहा, 'कमलनाथ जोर-जोर से कहते हैं कि CAA लागू नहीं होगा. अरे कमलनाथ जी... ये जोर से बोलने की आयु नहीं है आपकी, स्वास्थ बिगड़ जाएगा आपका. अगर इतना जोर बाकी है तो मध्य प्रदेश को ठीक करिए.' अमित शाह ने नागरिकता संशोधन अधिनियम के समर्थन में मध्य प्रदेश के जबलपुर आयोजित जनसभा में रविवार को यह बात कही.

जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि CAA पर बीजेपी एक जन जागरण अभियान चला रही है. ये जन जागरण अभियान बीजेपी इसलिए चला रही है क्योंकि कांग्रेस पार्टी, केजरीवाल, ममता बनर्जी, कम्युनिस्ट ये सभी इकट्ठा होकर देश को गुमराह कर रहे हैं. उन्होंने कहा, ' आज मैं बताने आया हूं कि CAA में कहीं पर भी किसी की नागरिकता छीनने का प्रावधान नहीं है, इसमें नागरिकता देने का प्रावधान है.'

ये भी पढ़ें: ममता पर PM मोदी का वार, बोले- कुछ लोग जानबूझकर CAA समझना ही नहीं चाहते

अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी ने देश का बंटवारा धर्म के आधार पर किया. बंटवारे के समय पूर्वी और पश्चिमी पाकिस्तान से हिंदू, सिख, जैन, बौद्ध, पारसी और ईसाइ को भारत आना था, मगर उस समय स्थिति सही नहीं होने के कारण वहां वो रह गए. हमारे देश के सभी नेताओं ने आश्वासन दिया कि आप अभी वहां रह जाइए और आप जब भी कभी भारत आएंगे तो आपका स्वागत किया जाएगा, भारत आपको नागरिकता देगा.'

ये भी पढ़ें: शाह का कांग्रेस पर निशाना, कहा- कितना भी विरोध करो, हम नागरिकता देकर ही दम लेंगे

गृह मंत्री ने बताया कि 2 जुलाई 1947 को महात्मा गांधी जी ने कहा था कि जिन लोगों को पाकिस्तान से भगाया गया, जो पाकिस्तान में रह गए हैं उनको पता होना चाहिए कि वो भारत के नागरिक थे, जब भी भारत में आना चाहें भारत उनको नागरिकता देगा.

देश में सीएए के खिलाफ जारी विरोध प्रदर्शनों पर अमित शाह ने कहा कि देश के अल्पसंख्यकों को उकसाया जा रहा है कि आपकी नागरिकता चली जाएगी. मैं देश के अल्पसंख्यक भाइयों-बहनों से कहने आया हूं कि CAA को पढ़ लें, इसमें कहीं पर भी किसी की भी नागरिकता जाने का कोई प्रावधान नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें