scorecardresearch
 

गुना: महिला को तालिबानी सजा, कंधे पर बच्चे को बैठाकर 3 KM कराई परेड

यह मामला गुना जिले के सिरसी थाना क्षेत्र का है. यहां रहने वाली एक महिला ने पिछले कुछ समय से अपने पहले पति को छोड़ दूसरे पति के साथ रहना शुरू कर दिया था. महिला अपने दूसरे पति के साथ खुशी खुशी रह रही थी.

आदिवासी महिला को अनोखी सजा (फोटो- आजतक) आदिवासी महिला को अनोखी सजा (फोटो- आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आदिवासी महिला को तालिबानी सजा
  • कंधे पर बच्चे को बैठाकर पैदल चलाया
  • पहले पति को छोड़ दूसरे पति के साथ रहने की मिली सजा

मध्यप्रदेश के गुना जिले में एक आदिवासी महिला को तालिबानी सजा दिए जाने का गंभीर मामला सामने आया है. इस महिला का गुनाह यह है कि वह अपने पहले पति को छोड़ दूसरे पति के साथ रह रही थी. इसी वजह से उसे सजा के तौर पर रूढ़िवादी परंपरा के तहत कंधे पर एक बच्चे को बैठाकर 3 किलोमीटर तक पैदल चलाया गया. 

यह मामला गुना जिले के सिरसी थाना क्षेत्र का है. यहां रहने वाली एक महिला ने पिछले कुछ समय से अपने पहले पति को छोड़ दूसरे पति के साथ रहना शुरू कर दिया था. महिला अपने दूसरे पति के साथ खुशी खुशी रह रही थी लेकिन कुछ दिनों पहले उसका पहला पति अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ महिला के घर पहुंचा और उसके साथ मारपीट की. 

इसके बाद करीब 3 किलोमीटर तक महिला को पैदल चलाया गया. पैदल चलने के दौरान महिला के कंधे पर एक बच्चे को भी बैठाया गया. पूर्व पति और रिश्तेदारों की बर्बरता यहीं नहीं रुकी. जब महिला को गांव में घुमाया जा रहा था उसी दौरान उसको लकड़ियों से पीटा भी जा रहा था. 

हैरानी की बात तो यह है कि स्थानीय लोग, महिला की मदद करने के बजाय पूरी घटना का वीडियो बनाते रहे. जो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है.

इस मामले में आज तक से बात करते हुए गुना के एसपी राजीव कुमार मिश्रा ने बताया कि 'आदिवासी समाज में परंपरा के नाम पर महिला के साथ दुर्व्यवहार किया गया है जो एक निंदनीय कृत्य है. इस पूरे मामले की बारीकी से जांच की जा रही है और पहले पति समेत 4 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है एक अन्य अभी फरार है जिसे जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा'. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें