scorecardresearch
 
मध्य प्रदेश

MP: पत्नी की हुई मौत, गाड़ी नहीं मिली तो रात भर साइकिल चलाकर अंतिम संस्कार करने पहुंचा पति

बुजुर्ग ने 13 घंटे में 130 KM का सफर तय किया
  • 1/5

कोरोना काल में लोगों को कई तरह की दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. मध्य प्रदेश के आगर मालवा से एक ऐसा ही मामला सामने आया है, जहां पर एक बुजुर्ग को जब यह खबर लगी कि उसकी पत्नी का देहांत हो गया है और लॉकडाउन की वजह से सबकुछ बंद है. ऐसे में उसने साइकिल उठाई और 13 घंटे में 130 किलोमीटर का सफर तय कर आगर मालवा अपने ससुराल पहुंच गया पत्नी के अंतिम संस्कार के लिए. 

बुजुर्ग ने 13 घंटे में 130 KM का सफर तय किया
  • 2/5

बुजुर्ग रवि शंकर पंवार इंदौर से 10 किलोमीटर दूर गांव तलावली में रहते हैं और उनकी शादी 1986 में मालीपुरा आगर मालवा की रहने वाली युवती से हुई थी उनकी पत्नी मानसिक रोगी थी इसलिए कुछ समय से वो अपने मायके में ही रह रही थी. पिछले कुछ दिनों से उनकी पत्नी की तबीयत ज्यादा खराब रहने लगी थी और 8 मई को उसका निधन हो गया. पत्नी के परिजनों ने रविशंकर के पास संदेश पहुंचाया कि उनकी पत्नी का देहांत हो गया है और वो मालवा आ जाएं. 

बुजुर्ग ने 13 घंटे में 130 KM का सफर तय किया
  • 3/5

बुजुर्ग रवि शंकर पंवार इंदौर से 10 किलोमीटर दूर गांव तलावली में रहते हैं और उनकी शादी 1986 में मालीपुरा आगर मालवा की रहने वाली युवती से हुई थी उनकी पत्नी मानसिक रोगी थी इसलिए कुछ समय से वो अपने मायके में ही रह रही थी. पिछले कुछ दिनों से उनकी पत्नी की तबीयत ज्यादा खराब रहने लगी थी और 8 मई को उसका निधन हो गया. पत्नी के परिजनों ने रविशंकर के पास संदेश पहुंचाय कि उनकी पत्नी का देहांत हो गया है और वो मालवा आ जाएं. 

बुजुर्ग ने 13 घंटे में 130 KM का सफर तय किया
  • 4/5

रात में इस सफर के दौरान उन्होंने कई तरह की दिक्कतों का सामना किया. भूखे, प्यासे साइकिल चलाई. लॉकडाउन की वजह से रास्ते में उन्हें पानी तक नहीं मिला. घर से जो थोड़ा बहुत पानी और खाना लेकर चले थे बस उसी से काम चलाया और 13 घंटे का सफर तय कर अपनी मंजिल तक पहुंच गए. 

बुजुर्ग ने 13 घंटे में 130 KM का सफर तय किया
  • 5/5

जब ससुराल वालों को यह पता चला कि रवि शंकर साइकिल से आगर मालवा आए हैं तो हर कोई हैरान रह गया. किसी को उम्मीद नहीं थी कि वो साइकिल से इतना लंबा सफर तय करेंगे. रवि शंकर ने बताया कि यदि रात नहीं होती तो वो 7 घंटे में आगर आ जाते. रवि शंकर पत्नि के अस्थी संचय कार्यक्रम में शामिल हो गए.