scorecardresearch
 

झारखंड से दिल्ली भेजी जा रही 6 बच्चियां रिहा, दो गिरफ्तार

कानपुर जीआरपी ने झारखंड से तस्करी से ले जाई जा रही 6 बच्चियों को छुड़ाते हुए गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है. बिहार, छत्तीसगढ़ और झारखंड के पिछड़े इलाकों के गरीब परिवारों की बच्चियों का देश में किस तरीके से व्यापार हो रहा है, यह इस बात का सबूत है.

कानपुर जीआरपी ने झारखंड से तस्करी से ले जाई जा रही 6 बच्चियों को छुड़ाते हुए गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है. बिहार, छत्तीसगढ़ और झारखंड के पिछड़े इलाकों के गरीब परिवारों की बच्चियों का देश में किस तरीके से व्यापार हो रहा है, यह इस बात का सबूत है.

कानपुर जीआरपी (पुलिस) ने मानव तस्करी के लिए झारखंड से दिल्ली ले जायी जा रही 6 लड़कियों को छुड़ाकर मानव तस्करी करने वाले एक गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया. छहों लड़कियां झारखंड की रहने वाली हैं.

तस्कर गिरोह के सदस्य गरीबी के चलते इनके परिवार वालों से ये लोग इन लड़कियों को घरों में काम कराने के बहाने ले लेते थे और बाद में लड़कियों को झारखंड से ले जाकर दिल्ली में एक संस्था को सौंप दिया जाता था. इन्हें एक लड़की के लिए पंद्रह हज़ार रुपये मिलते थे. ये सभी लड़कियां झारखंड से रांची संपर्क क्रांती एक्सप्रेस से दिल्ली पहुंचाई जा रही थीं.

मानव तस्करों की गिरफ्त से छूटी लड़कियां काफी डरी हुई हैं. पुलिस की गिरफ्त में आया मानव तस्कर कृष्णा सफाई देते हुए कह रहा है कि इन लड़कियों को काम कराने के उद्देश्य से दिल्ली ले जा रहा था. पुलिस अब इस बात का पता लगाने में जुट गयी है कि मानव तस्करी करने वाले इस गिरोह में और कितने लोग शामिल हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×