scorecardresearch
 

पूजा सिंघल के करीबियों पर ED का शिकंजा, झारखंड-बिहार में 7 ठिकानों पर छापेमारी

IAS Pooja Singhal Case: झारखंड की निलंबित आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल के करीबी ईडी के निशाने पर हैं. झारखंड और बिहार में 7 ठिकानों पर ईडी सुबह से ही छापेमारी कर रही है.

X
प्रवर्तन निदेशालय प्रवर्तन निदेशालय
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ED के निशाने पर पूजा सिंघल के करीबी
  • बिहार-रांची में सात ठिकानों पर छापेमारी

IAS Pooja Singhal Case: झारखंड की निलंबित आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल के करीबियों पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शिकंजा कसा है. झारखंड और बिहार में 7 ठिकानों पर ईडी सुबह से ही छापेमारी कर रही है. छापेमारी की यह कार्रवाई रांची के अशोक नगर में विशाल चौधरी और निशित केशरी के ठिकानों पर हो रही है. निशित केशरी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का के रिश्तेदार हैं. जिसके जरिए ED पूजा सिंघल के साथ उनके पैसे के लेनदेन की जांच कर रही है.

आरोप है कि विशाल चौधरी और निशिक केशरी ब्लैक मनी को वाइट मनी करते थे. रांची में करोड़ों रुपये के अपार्टमेंट बने हैं और बन रहे हैं. ईडी की टीम इनके कंस्ट्रक्शन में लगे पैसों का सोर्स का पता लगा रही है. छापेमारी में पटना आईडी की टीम भी शामिल है. छापेमारी के दौरान ईडी ने कई दस्तावेज और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस् पर फोन कॉल डिटेल को खंगाला. साथ ही ED की टीम ने व्हाट्सएप चैटिंग को भी जब्त कर लिया है. बता दें कि पूजा सिंघल और डीएमओ से पूछताछ में दोनों का नाम सामने आया था. 

विशाल चौधरी के घर और ऑफिस में हुई छापेमारी में कई अहम जानकारी हाथ लगी हैं. उसके अरगोड़ा चौक स्थित अशोक नगर रोड नंबर-6 स्थित घर में कैश भी बरामद होने की सूचना है, जिसे गिनने के लिए 2 कैश काउंटिंग मशीन भी लाई गई है. साथ ही उनके घर के अंदर से कई दस्तवेजों की बरामदगी हुई है जिसकी जांच की जा रही है. विशाल चौधरी और उसके परिजनों के फोनों को ED ने जब्त कर लिया है.

विशाल चौधरी रांची का ही नहीं झारखंड का भी जाना पहचाना नाम है. विशाल कौशल विकास केंद्र भी चलाते हैं. उनके कई वरिष्ठ आईएएस अफसरों के साथ अच्छे संबंध भी हैं. जिनकी बदौलत उसने मोटी कमाई की है और अधिकारियों को भी मालामाल किया है. विशाल चौधरी के ऑफिस पर ईडी ने छापेमारी की. ईडी की टीम ने वहां ऑफिस कर्मचारियों के मोबाइल्स भी जब्त कर लिए हैं.

ईडी को विशाल चौधरी के ऑफिस के बाहर कचरे के ढेर में एप्पल का मोबाइल फोन और उसके साथ ही कई अहम दस्तवेज भी मिले हैं जिनमें कई आईपीएस अफसरों के नाम भी लिखे हैं. जानकारी के अनुसार छापेमारी से ठीक पहले ऑफिस से इन समानों और दस्तावेजों को फेंका गया था. हालांकि, ईडी इन मोबाइल्स और दस्तावेजों की जांच कर रही है. विशाल चौधरी के यहां छापेमारी के तार मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव और गृह सचिव के रिश्तेदार निशित केशरी से जुड़े. इसके बाद ईडी ने निशित केशरी के घर पर भी छापेमारी की.

मिली जानकारी के अनुसार, देर शाम को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम विशाल चौधरी को अपने साथ ले गई. जाहिर है उनसे पूछताछ होगी और कल यानी 25 मई को पूजा सिंघल की रिमांड अवधि पूरी हो रही है तो उनसे उसका आमना-सामना भी करवाया जाएगा, फिलहाल यह जानकारी निकल कर आ रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें