scorecardresearch
 

झारखंड से लेकर बिहार तक ED के ताबड़तोड़ छापे, निशाने पर IAS पूजा सिंघल के करीबी

Jharkhand: ईडी की टीम ने बिहार और झारखंड के आधा दर्जन ठिकानों पर छापामारी की है. बताया जाता है कि IAS पूजा सिंघल के करीबियों से जुड़े ठिकानों पर यह रेड मारी गई है.

X
पूजा सिंघल की गिरफ्तारी हो चुकी है. (फाइल फोटो) पूजा सिंघल की गिरफ्तारी हो चुकी है. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मंगलवार सुबह ईडी की बड़ी कार्रवाई
  • पूजा सिंघल के करीबियों केे ठिकानों पर छापे

झारखंड कैडर की निलंबित  IAS और पूर्व खनन सचिव पूजा सिंघल की गिरफ्तारी के बाद प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने मंगलवार की सुबह बड़ी कार्रवाई शुरू की. ईडी की टीम ने कारोबारी अनिल झा के साथ अन्य आधा दर्जन ठिकानों पर छापेमारी की है. बताया जाता है कि अनिल झा, पूजा सिंघल के करीबी हैं और पैसे के लेन-देन से जुड़े रहे हैं.

साहिबगंज के डीएमओ विभूति कुमार से मिले इनपुट के बाद आज सुबह से ईडी बड़ी कार्रावाई में जुट गई है. झारखंड और बिहार के विभिन्न स्थानों पर एक साथ छापेमारी की जा रही है.

रांची में भगवती कंस्ट्रक्शन के अनिल झा के करीब 6 ठिकानों पर छापेमारी चल रही है. भगवती कंस्ट्रक्शन के अशोकनगर स्थित ठिकाने पर भी ईडी ने दबिश दी है. माना जा रहा है कि अनिल झा के भगवती कंस्ट्रक्शन और पूजा सिंघल के बीच संबंध की जानकारी ईडी को मिली है. 

पूछताछ भी जारी 

ईडी पूजा सिंघल के ठिकानों पर दबिश देने के बाद से लगातार कई लोगों से पूछताछ कर रही है. इनमें अभी तक सबसे अहम साहिबगंज के डीएमओ विभूति कुमार से पूछताछ को अहम माना जा रहा है. सोमवार को ईडी ने विभूति कुमार और पूजा सिंघल से एक साथ पूछताछ की थी.

इसी पूछताछ के दौरान मिल इनपुट के आधार पर आज छापेमारी हो रही है. बताया जा रहा है कि पूछताछ में कई नए नामों का खुलासा हुआ है. जाहिर है कि ईडी ऐसे लोगों के रिकार्ड को भी खंगालने में जुटी है. 

BJP सांसद का ट्वीट

इस छापेमारी को लेकर बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने भी ट्वीट कर दिया है. दुबे ने ट्विटर पर लिखा, देखिए भैया हम देर से ट्वीट कर रहे हैं,आज जो छापा चल रहा है ED का वह झा जी व चौधरी जी पर चल रहा है जो झारखंड के किसी ''राजा'' के यहाँ धन पहुँचाने के बिचौलिये थे. 

गोड्डा सांसद ने लिखा है, ''सुना है चौधरी जी मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव के काफ़ी करीबी हैं और उर्जा विभाग झारखंड के मालिक हैं, लगता है कि झारखंड अब इन तालिबानी के हाथों है,सरकार नाम की कोई चीज ही नहीं बची?''

(आकाश कुमार के इनपुट के साथ)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें