scorecardresearch
 

झारखंड: शौच के लिए गया था ग्रामीण, झाड़ियों से निकलकर भालुओं ने कर दिया हमला

झारखंड के गढ़वा में दो भालुओं के हमले से भंडरिया थाना क्षेत्र के टेहरी गांव निवासी शिवमुनी सिंह (50 साल) बुरी तरह घायल हो गए. शिवमुनी का इलाज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भंडरिया में चल रहा है. वो खेत में शौच के लिए गए थे तभी अचानक झाड़ियों से निकलकर दो भालुओं ने उन पर हमला कर दिया.

दो भालुओं के हमले से घायल शख्स (फोटो आजतक) दो भालुओं के हमले से घायल शख्स (फोटो आजतक)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दो भालुओं ने हमला कर घायल किया
  • इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा
  • शिवमुनी सिंह के हाथ-पैर में चोटें आईं

झारखंड के गढ़वा में दो भालुओं के हमले से भंडरिया थाना क्षेत्र के टेहरी गांव निवासी शिवमुनी सिंह (50 साल) बुरी तरह घायल हो गए. शिवमुनी का इलाज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भंडरिया में चल रहा है. शिवमुनि शौच के लिए खेत की तरफ गए थे. इस बीच झाड़ियों से दो जंगली भालू निकले और उनपर हमला कर दिया. एक भालू ने उनके बाएं पैर को अपने जबड़े में जकड़ लिया, वहीं दूसरे भालू ने उनके दाहिने हाथ को दबोच लिया. 

शिवमुनी सिंह ने बताया कि उन्होंने भालुओं से बचने के लिए पूरी ताकत लगा दी और दोनों भालुओं पर अपने हाथ पैर से हमला किया और किसी तरह से खुद को बचाने में कामयाब रहे. इस दौरान वो गंभीर रूप से घायल हुए हाथ और पैर में काफी चोटें आई हैं. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भंडरिया में उनका इलाज चल रहा है. 

भालुओं के हमले से ग्रामीण घायल 

टेहरी जंगल में भालुओं के हमले की यह कोई पहली घटना नहीं है. इससे पहले भी जंगली भालुओं ने कई लोगों पर हमले कर उन्हें घायल किया है. गांव वालों ने वन विभाग को इसके बारे में कई बार सूचना दी है. लेकिन कोई इंतजाम नहीं किया गया है. किसी के घायल होने पर भी मुआवजा या सरकारी लाभ प्रदान नहीं किया जाता है. 

घायल को मुआवजा देने का है प्रावधान 

वहीं वन विभाग के पदाधिकारी गोपाल चंद्रा ने बताया कि जंगली जानवरों के हमलें से घायल हुए लोगों को वन विभाग द्वारा मुआवजा दिए जाने का प्रावधान है. आवेदन मिलने पर हमारा प्रयास होगा की एक माह के अंदर मुआवजे की राशि प्रभावितों को मिल जाए. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें