scorecardresearch
 

Jammu And Kashmir: पुलवामा में एनकाउंटर, सुरक्षाबलों ने लश्कर के 3 आतंकियों को मार गिराया

इस एनकाउंटर से पहले 27 मई को भी जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में मुठभेड़ हुई थी, जिसमें लश्कर-ए-तैयबा के एक डिप्टी कमांडर सहित 3 आतंकवादी मारे गए थे. इसके बाद सुरक्षाबलों को फिर बड़ी कामयाबी हाथ लगी है.

X
सुरक्षाबलों के साथ एनकाउंटर में मारे गए तीनों आतंकी, फजिल, इरफान और जुनैद. सुरक्षाबलों के साथ एनकाउंटर में मारे गए तीनों आतंकी, फजिल, इरफान और जुनैद.
1:22
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तीनों आतंकी पुलवामा जिले के ही रहने वाले थे
  • 27 मई को भी पुलवामा में ही मारे गए थे 3 दहशतगर्द

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में 3 आतंकी मारे गए. सुरक्षाबलों ने मारे गए आतंकियों के पास से 2 एके 47 राइफल और 1 पिस्टल सहित कई हथियार और गोला बारूद बरामद किया है. फिलहाल पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है. 

मारे गए आतंकियों में पुलवामा के हरिपोरा का इरफान मलिक (25), पुलवामा का फजिल नजीर भट्ट (21), पुलवामा के गुदौरा का जुनैद कादिर (19) शामिल हैं. बताया जा रहा है कि तीनों ही लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हुए थे.

हाल ही में 27 मई को भी जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में मुठभेड़ हुई थी, जिसमें लश्कर-ए-तैयबा के एक डिप्टी कमांडर सहित 3 आतंकवादी मारे गए थे. उन आतंकियों को मारने से ठीक पहले का आखिर वीडियो सामने आया था. 

जिले के पाहू इलाके में मुठभेड़ से पहले यह वीडियो ड्रोन से शूट किया गया था. इस लड़ाई में ड्रोन आतंकवादियों के खिलाफ सबसे बड़ा हथियार साबित हुआ. दरअसल, ड्रोन कैमरे से कैप्चर किए जा रहे फुटेज में सेना के जवानों को आतंकियों की पोजिशन और हथियार साफ नजर आ रहे थे.

मकान के पीछे ली थी पोजिशन

बताया गया कि लश्कर-ए-तैयबा के तीनों आतंकवादियों ने एक मकान के पीछे लगी झाड़ियों में पोजिशन ले रखी थी और तीनों अंधेरा होने का इंतजार कर रहे थे, ताकि मौके का फायदा उठाकर भाग सकें. लेकिन ड्रोन से मिले फुटेज के चलते सेना ने इन तीनों दहशतगर्दों को चारों तरफ से घेर लिया और उनके भागने के सभी रास्ते ब्लॉक कर दिए. फिर सेना की सभी यूनिट्स ने पोजिशन लेकर तीनों को ढेर कर दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें