scorecardresearch
 

घाटी में पंचायत चुनाव से पहले आतंकी की धमकी, नामांकन वापस लेने को कहा

जम्मू-कश्मीर में होने वाले निकाय चुनाव और पंचायत चुनाव में नेशनल कॉन्फ्रेंस-पीडीपी बायकॉट करने का ऐलान कर चुके हैं. जिसके कारण कई सीटों पर बीजेपी निर्विरोध जीत गए.

J-K पुलिस (फाइल फोटो) J-K पुलिस (फाइल फोटो)

जम्मू-कश्मीर में इस महीने होने वाले पंचायत चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो रही हैं. इस बीच चुनाव को टालने के लिए आतंकी लगातार धमकियां दे रहे हैं. ताजा वीडियो लश्कर-ए-तैयबा के कमांड सुहैब आखून अलियास की तरफ से जारी किया गया है.

इस वीडियो में वह धमकी दे रहा है कि जिन लोगों ने भी पंचायत चुनाव के लिए नामांकन किया है. अगर वे अगले तीन दिनों में अपना नाम वापस नहीं लेते हैं तो उसका अंजाम बुरा होगा.  

बता दें कि आतंकवादियों की धमकियों के कारण कई उम्मीदवार सुरक्षा को लेकर चिंता व्यक्त कर चुके हैं. राज्य में सीआरपीएफ डीजीपी और जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी लगातार सुरक्षा का जायजा ले रहे हैं.

इन चुनावों की तारीख जैसे-जैसे नज़दीक आती जा रही है, वैसे ही पार्टियों ने वोटरों को लुभाना भी शुरू कर दिया है. बीजेपी ने रविवार को ही अपना घोषणापत्र जारी किया है. इससे पहले कुछ सीटों पर बीजेपी निर्विरोध जीत दर्ज कर चुकी है.

गौरतलब है कि घाटी में कुछ तत्व पंचायत चुनाव को टलवाने की कोशिश में जुटे हैं. इसी के चलते पिछले तीन दिन में 9 पंचायत घरों को आग के हवाले कर दिया.

जम्मू-कश्मीर में होने वाले पंचायत चुनाव नौ चरणों में होंगे और पहले चरण का मतदान 17 नवंबर को होगा. मतदान 17, 20, 24, 27 और 29 नवंबर तथा 01, 04, 08 और 11 दिसंबर को होंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें