scorecardresearch
 

जम्मू-कश्मीर के बारामूला में बादल फटा, एक ही परिवार के चार लोगों ने गंवाई जान

रविवार सुबह जम्मू-कश्मीर के बारामूला में बादल फटने की घटना हुई. लगातार हुई तेज बारिश के बाद रफियाबाद में बादल फटने की वजह से जल स्तर अचानक से काफी ज्यादा बढ़ गया. इस घटना में एक ही परिवार के चार सदस्यों ने अपनी जान गंवा दी है.

जम्मू-कश्मीर के बारामूला में बादल फटा ( सांकेतिक फोटो) जम्मू-कश्मीर के बारामूला में बादल फटा ( सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बारामूला में बादल फटने की घटना
  • एक ही परिवार के चार लोगों ने गंवाई जान

जम्मू-कश्मीर के बारामूला में रविवार सुबह बादल फटने की घटना हुई. लगातार हुई तेज बारिश के बाद  रफियाबाद में बादल फटने की वजह से जल स्तर अचानक से काफी ज्यादा बढ़ गया. इस घटना में एक ही परिवार के चार सदस्यों ने अपनी जान गंवा दी है. वहीं एक की तलाश अभी भी जारी है. पुलिस अधिकारियों के मुताबिक जिस जगह पर बादल फटा है, वो काफी दुर्गम इलाका है, ऐसे में वहां पर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाना अपने आप में बड़ी चुनौती है.

बारामूला में बादल फटा

बादल फटने की वजह से मोहम्मद तारिक खारी, शहनाजा बेगम, नाजिया अख्तर और आरिफ हुसैन खारी ने अपनी जान गंवा दी है. उन्हीं के परिवार के मोहम्मद बारिख खान अभी भी लापता बताए जा रहे हैं. उनकी तलाश जारी है लेकिन जिंदा होने की उम्मीद कम बताई जा रही है. पुलिस ने जानकारी दी है कि बारामूला के रफियाबाद में मोबाइल कनेक्टिविटी भी काफी कमजोर है, इस वजह से संपर्क साधना मुश्किल हो रहा है. कई घंटों से टीमें रेस्क्यू में लगी हुई हैं, चार शव बरामद हुए हैं, लेकिन एक की तलाश जारी है.

पिछले महीने किश्तवाड़ में भी तबाही

पिछले महीने जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ में बादल फटने से भारी तबाही हुई थी. तब जम्मू कश्मीर के होंजर डच्चन गांव में बादल फटा था. उस घटना में 6 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी, वहीं कई लापता हो गए थे. उस समय बादल फटने से लोगों ने तो जान गंवाई ही थी, कई घर भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए थे. वहां भी रेस्क्यू ऑपरेशन चलाना काफी मुश्किल था क्योंकि जिस जगह बादल फटा था वहां पर सड़कें नहीं थीं. ऐसे में तब रेस्क्यू ऑपरेशन कई घंटे चला था और अधिकारियों को भी अलग ही स्तर की मेहनत करनी पड़ी थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें