scorecardresearch
 

भारत ने पाकिस्तान को सौंपे उरी हमले के सबूत, कहा- एक्शन लो, अब टालमटोल से काम नहीं चलेगा

भारत ने उरी हमले समेत हाल में हुए आतंकी हमलों पर पाकिस्तान से कार्रवाई करने को कहा है. भारत ने उरी आतंकी हमले के पाकिस्तानी लिंक के सबूत पाकिस्तान को सौंपे हैं. मंगलवार को विदेश सचिव एस जयशंकर ने दिल्ली में पाकिस्तान के हाई कमिश्नर अब्दुल बासित को तलब किया और उरी हमले में पाकिस्तान की धरती के इस्तेमाल के सबूत सौंपे.

भारत में पाकिस्तान के हाई कमिश्नर अब्दुल बासित भारत में पाकिस्तान के हाई कमिश्नर अब्दुल बासित

भारत ने उरी हमले समेत हाल में हुए आतंकी हमलों पर पाकिस्तान से कार्रवाई करने को कहा है. भारत ने उरी आतंकी हमले के पाकिस्तानी लिंक के सबूत पाकिस्तान को सौंपे हैं. मंगलवार को विदेश सचिव एस जयशंकर ने दिल्ली में पाकिस्तान के हाई कमिश्नर अब्दुल बासित को तलब किया और उरी हमले में पाकिस्तान की धरती के इस्तेमाल के सबूत सौंपे.

हैंडलर्स के बारे में भी दी जानकारी
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि इन हमलों के पाकिस्तानी हैंडलर्स के बारे में सबूत भी पाकिस्तान को दिए गए हैं. भारत ने पाकिस्तान से साफ शब्दों में कहा है कि इस तरह की क्रॉस बॉर्डर आतंकी गतिविधियों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

हमलावरों के पास से बरामद सामानों की डिटेल दी गई
पाकिस्तान को भी ये भी कहा गया है कि हाल में भारत में हुए कई आतंकी हमलों में शामिल हमलावरों के पास से पाकिस्तान में बनी चीजें बरामद की गई हैं जिससे ये साबित होता है कि इन हमलों में पाकिस्तानी लोगों और संगठनों की संलिप्तता है. साथ ही ये भी कहा गया है कि अगर पाकिस्तान इन आतंकी हमलों की जांच कराने को इच्छुक है तो भारत सरकार उरी और पुंछ में हाल में हुए हमलोंमें शामिल हमलावरों के फिंगरप्रिंट, डीएनए सैंपल आदि मुहैया कराने को तैयार है.

दो गाइड भारत की हिरासत में
बासित को ये भी जानकारी दी गई कि पाकिस्तान की सीमा की ओर से घुसपैठ में मदद करने वाले दो गाईड भी भारतीय सुरक्षाबलों कीकस्टडी में हैं. इन गाइड्स की डिटेल भी दी गई. दोनो गाइड यासीन खुर्शीद और फैजल हुसैन अवान पाकिस्तान के मुजफ्फराबाद के रहने वाले हैं. फैजल हुसैन अवान 20 साल का है और पोठा जहांगीर, मुजफ्फराबाद का रहने वाला है. वहीं 19 साल का यासीन खुर्शीद खिलियाना कलां, मुजफ्फराबाद का रहने वाला है. ये घुसपैठ में पाकिस्तानी आतंकियों की मदद करते थे. उरी में गांववालों ने पीओके के रहने वाले दो गाइड्स को पकड़ा था जो आतंकियों को पाकिस्तान की तरफ से घुसपैठ करने में मदद करते थे.

प्राथमिक जांच रिपोर्ट के आधार पर डिटेल सौंपी
इसके अलावा प्राथमिक जांच के अनुसार उरी हमले से जुड़े डिटेल्स भी पाकिस्तान को सौंपे गए हैं. एक हमलावर की पहचान हाफिज अहमद, मुजफ्फराबाद के रूप में की गई है. उरी हमले के हैंडलर्स के बारे में भी जानकारी पाकिस्तान को सौंपी गई है. मोहम्मद कबीर अवान और बशारत ने इस हमले के हैंडलर का रोल निभाया.

2004 की कमिटमेंट को याद दिलाया
18 सितंबर को उरी में आर्मी कैंप पर हुए आतंकी हमले के मामले को पाकिस्तान के साथ उठाते हुए भारत ने जनवरी 2004 के पाकिस्तान के उस कमिटमेंट को याद दिलाया जिसमें उसने वादा किया था भारत के खिलाफ आतंकी गतिविधियों के लिए वह अपनी धरती का इस्तेमाल नहीं होने देगा. इस हमले में 18 सैनिकों की जान गई थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें