scorecardresearch
 

पुलवामा मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर, दो स्थानीय लोगों की मौत

पुलवामा के काकापोड़ा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के भीषण मुठभेड़ में रविवार को एक आतंकी ढेर हो गया. मुठभेड़ में दो स्‍थानीय लोगों की भी मौत हो गई है.

सुरक्षाबलों और आतंकियों के मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर सुरक्षाबलों और आतंकियों के मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर

दक्षिण कश्मीरी इलाके पुलवामा के काकापोड़ा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच रविवार को भीषण मुठभेड़ में एक आतंकी ढेर हो गया. जबकि इस दौरान दो स्‍थानीय लोगों की भी मौत हो गई है. बताया जाता है कि काकापोड़ा कॉलोनी में आतंकियों के होने की खुफिया सूचना मिलने पर सुरक्षाबल और राज्य पुलिस के विशेष दल के जवानों ने संयुक्त अभियान चलाया.

जानकारी के मुताबिक, सर्च ऑपरेशन के दौरान आतंकियों ने ऑटोमेटिक हथियारों से सुरक्षाबल पर गोलियां बरसाईं, जिसके जवाब में जवानों ने भी फायरिंग की. जवाबी कार्रवाई में एक आतंकवादी ढेर हो गया.

कई अन्य लोग घायल
आतंकियों के साथ मुठभेड़ में दो स्थानीय लोगों की भी मौत हो गई है. रतनीपोरा में रहने वाले 25 साल के दानिश और पुलवामा की रहने वाली 22 साल की शाइस्ता की गोली लगने से मौत हो गई, वहीं लेलहर इलाके में चल रही मुठभेड़ में कुछ स्थानीय नागरिक घायल हो गए हैं. इनमें दो की हालत गंभीर बताई जा रही है. घायलों को करीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

शनिवार को मारे गए थे पांच आतंकी
सेना से मिली जानकारी के मुताबिक इलाके में अब भी एक-दो आतंकी छुपे हो सकते हैं. अंतिम रिपोर्ट मिलने तक अभियान जारी रखा जाएगा. इससे पहले कुख्यात आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के पांच आतंकी शनिवार को उत्तर कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में हुए मुठभेड़ मारे गए थे. कुपवाड़ा मुठभेड़ में सेना के दो जवान शहीद और दो घायल हो गए थे. सेना ने रविवार को बताया कि शनिवार को उत्तरी कश्मीर के कुपवाडा जिले में एक मुठभेड़ में मारे गए सभी पांच आतंकी विदेशी थे और लश्कर-ए-तैयबा के सदस्य थे.

समूह बनाकर तो नहीं आए घुसपैठिए आतंकी
श्रीनगर स्थित चिनार कोर के जनरल ऑफिसर कमांडिंग (जीओसी) लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ ने कहा कि पता लगाया जा रहा है कि क्या आतंकियों ने समूह बनाकर घुसपैठ की थी. उन्होंने कहा कि हम इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या यह नया समूह था. जांच पूरी होने पर इस बारे में बेहतर बता पाएंगे. उन्होंने कहा कि हमने दूसरे सुरक्षा बलों के साथ मिलकर अभियान शुरू किए हैं. कश्मीर में फिलहाल आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद की शायद ही कोई मौजूदगी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें