scorecardresearch
 

सेना प्रमुख की दो टूक- कश्मीर घाटी में आम लोग नहीं सिर्फ हथियारबंद आतंकी हमारे निशाने पर

बिपिन रावत ने कहा कि सेना घाटी में पहले की ही तरह सख्त रवैये के साथ अपना ऑपरेशन आगे बढ़ाएगी. हमने अभी तक जो भी ऑपरेशन चलाए हैं उसमें हमारी कोशिश रही है कि उससे लोगों को कम नुकसान पहुंचे.

सेना प्रमुख बिपिन रावत (File) सेना प्रमुख बिपिन रावत (File)

रमजान सीज़फायर खत्म होने के बाद एक बार फिर सेना ने घाटी में अपना ऑपरेशन तेज कर दिया है. इस बीच सेना प्रमुख बिपिन रावत ने एक बार फिर आतंकियों को कड़ी चेतावनी दी है. शुक्रवार को सेना प्रमुख ने कहा कि हमारा मुख्य लक्ष्य वो आतंकी हैं, जो घाटी में हिंसा फैला रहे हैं. हम किसी नागरिक को अपना निशाना नहीं बना रहे हैं.

बिपिन रावत ने कहा कि सेना घाटी में पहले की ही तरह सख्त रवैये के साथ अपना ऑपरेशन आगे बढ़ाएगी. हमने अभी तक जो भी ऑपरेशन चलाए हैं उसमें हमारी कोशिश रही है कि उससे लोगों को कम नुकसान पहुंचे.

सेना प्रमुख ने उन रिपोर्ट्स और बयानबाजी को पूरी तरह खारिज किया कि सेना यहां काफी क्रूरता के साथ अपने ऑपरेशन को चला रही है. आपको बता दें कि इससे पहले भी जम्मू-कश्मीर को लेकर संयुक्त राष्ट्र के द्वारा जारी की गई एक रिपोर्ट को सेना प्रमुख बिपिन रावत ने बेबुनियाद बताया था.

बुधवार को सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा था कि हमें इस रिपोर्ट पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है, कुछ रिपोर्ट्स मोटिवेटड होती हैं. रावत बोले कि सेना घाटी में शानदार काम कर रही है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि जो आतंकी आजकल हमले की साजिशें रच रहे हैं, वह तकनीक का काफी इस्तेमाल कर रहे हैं.

आपको बता दें कि हाल ही में जम्मू-कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन को लेकर संयुक्त राष्ट्र ने एक रिपोर्ट जारी की थी. जिसमें सेना पर सवाल उठाए गए थे, इस रिपोर्ट का भारत सरकार समेत सभी राजनीतिक दलों ने कड़ा विरोध किया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें