scorecardresearch
 

हिमाचल में बारिश का कहर, ठप पड़ा देश का सबसे बड़ा हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट

हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश की वजह से देश के सबसे बड़े हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट को अस्थायी तौर पर बंद कर दिया गया है.

हिमाचल में बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हिमाचल में बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त

हिमाचल प्रदेश में लगातार भारी बारिश की वजह से देश के सबसे बड़े हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट को अस्थायी तौर पर बंद कर दिया गया है. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में सतलुज जल विद्युत निगम लिमिटेड (एसजेवीएनएल) के 1500 मेगावाट के नाथपा-झाकरी प्लांट अस्थायी तौर पर ठप है.

पावर प्लांट के प्रोजेक्ट हेड संजीव सूद ने इसकी जानकारी देते हुए बताया कि जब तक नाथपा-झाकरी बांध में सतलज नदी में गाद की मात्रा 5000 पीपीएम से नीचे नहीं जाएगी, तब तक बिजली उत्पादन निलंबित रहेगा.

तीन बच्चों सहित 18 लोगों की मौत

इस बीच हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश से जुड़ी घटनाओं में रविवार को तीन बच्चों सहित 18 लोगों की मौत हो गई. भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को हुई बारिश बीते 70 सालों में 24 घंटे के दौरान दर्ज की गई सबसे ज्यादा बारिश है. एक अधिकारी ने कहा कि लगातार बारिश की वजह भूस्खलन, सड़कों के संपर्क मार्ग के कटने से सैकड़ों लोग फंसे हुए हैं.

एक सरकारी प्रवक्ता ने न्यूज एजेंसी आईएएनएस से कहा कि राज्यभर में 68 सड़कों पर यातायात बाधित है और चंबा जिले में सबसे अधिक 47 सड़कें बाधित हैं. जानकारी के मुताबिक शिमला, सिरमौर, मंडी, कांगड़ा और कुल्लू जिलों के अंदरूनी इलाकों में संपर्क मार्ग को बंद किए जाने की रिपोर्ट है, जिससे यातायात बाधित हुआ है.

हिमाचल प्रदेश के अलग-अलग हिस्सों में सोमवार के लिए स्कूलों और सरकारी दफ्तरों को बंद कर दिया गया है. इस बीच, हिमाचल प्रदेश के अलावा उत्तराखंड में भी भारी बारिश के कारण तमाम लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है. यही नहीं, राज्य के चमोली, उत्तराकाशी समेत कई इलाकों में स्कूल बंद कर दिए गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें