scorecardresearch
 

DJ बंद होने पर बारातियों ने किया जमकर बवाल, दूल्हे को बिना दुल्हन के ही लौटना पड़ा

एक नशेड़ी दूल्हे को बगैर दुल्हन के अपनी बारात लेकर लौटना पड़ा. डीजे बंद होने पर बारातियों और स्थानीय लोगों के बीच विवाद हो गया था और बात मारपीट तक पहुंच गई थी. जिसकी वजह से दुल्हन ने शादी से इनकार कर दिया.

X
दूल्हा-दुल्हन के बिना खाली पड़ा स्टेज दूल्हा-दुल्हन के बिना खाली पड़ा स्टेज
स्टोरी हाइलाइट्स
  • DJ बंद होने को लेकर हुई मारपीट
  • दूल्हे को नशे में देख दुल्हन ने किया इनकार

हरियाणा के महेंद्रगढ़ में जिले में डीजे बंद होने को लेकर बारातियों और स्थानीय लोगों के बीच जमकर बवाल हुआ. जिसकी वजह से दूल्हे को बारात वापस लेकर लौटना पड़ा. पंचमुखी मंदिर के पास रह रहे एक परिवार की 2 बेटियों की शादी थी. पहली बेटी की शादी तो आराम से निपट गई लेकिन दूसरी शादी में बारातियों ने शराब पीकर जमकर हंगामा किया. बात गाली गलौज और मारपीट तक पहुंच गई. फिर लड़की ने शादी करने से इनकार कर दिया.

दुल्हन पक्ष के लोगों का कहना है कि दूल्हा घोड़ी पर सवार होकर गाजे बाजे के साथ दुल्हन के घर के लिए निकला. बाराती शराब के नशे में धुत थे और रात के 1 बजे तक सड़क पर नाचते और हुड़दंग मचाते रहे. शुभ मुहूर्त निकल गया लेकिन बारात सही समय पर दूल्हन के घर तक नहीं पहुंच सकी. इस दौरान किसी ने 112 पर फोन कर दिया और मौके पर पहुंचकर पुलिस ने DJ बंद करा दिया. इस बात से बाराती नाराज हो गए और रात में दुल्हन के परिजनों से बैंड बाजे की मांग करने लगे.

किसी तरह से रात में बैंड बाजे का प्रबंध किया गया. इस दौरान लड़की पक्ष के लोगों ने शादी के शुभ मुहूर्त निकल जाने का हवाला भी दिया लेकिन बाराती नाचते रहे और बैंड बाजा बजा रहे लोगों के साथ भी बदसलूकी करने लगे. दूल्हा जब शादी के मंडप पहुंचा तो उसने भी खूब उत्पात मचाया. माला और सेहरा उतार कर फेंक दिया. दुल्हन और उसके माता-पिता को गाली देने लगा. इसके साथ बारातियों ने भी खूब हंगामा किया. 

बगैर दुल्हन के लौट गई बारात

दुल्हन पक्ष का आरोप है कि दूल्हा भी शराब के नशे में धुत था. जब दुल्हन ने यह सारा नजारा देखा तो उसने सात फेरे लेने से इनकार कर दिया. सुबह तक मान-मनोव्वल होती रही, लेकिन बात नहीं बनी. बारात लौट गई, लेकिन दूल्हा पक्ष के कुछ लोग महेन्द्रगढ़ शहर थाना में पहुंच गए. बाद में पंचायती तौर पर आपस में फैसला हुआ, जिस पर दोनों पक्ष राजी हो गए और फिर दूल्हा और बारात बगैर दुल्हन के ही लौट गई. 

दुल्हन का कहना है वो किसी भी हाल में उस लड़के से शादी नहीं करेगी. दुल्हन ने कहा कि मुझ पर किसी का कोई दबाव नहीं है. मेरे पूरे परिवार को काफी बेइज्जत किया गया और उनके साथ मुझे भी गंदी-गंदी गालियां दी गई. वहीं दूल्हे के जीजा का कहना है कि शादी न होने से समाज में हमारी की इज्जत खराब हुई है हम लोग गांव में क्या मुंह दिखाएंगे. शादी न होने से हमारा भी काफी नुकसान हुआ है. इधर झज्जर से आई बारात लौटने के बाद शादी में आए हुए रिश्तेदारों और परिजनों के बीच काफी देर तक चर्चा हुई. बाद में रिश्तेदारी में रोहतक जिले में बेटी की शादी तय की गई. 

(इनपुट- नवीन यादव)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें