scorecardresearch
 

रोहतक: 7 साल की दिशी का दावा, 12 मिनट 4 सेकंड में तोड़ देंगी राजस्थान की पूजा का विश्व रिकॉर्ड

पूजा बिश्नोई ने 8 साल की उम्र में 3 किलोमीटर की दौड़ 12 मिनट 50 सेकंड में पूरी कर अंडर 10 विश्व रिकॉर्ड स्थापित किया है. अब दिशी इस रिकॉर्ड को तोड़ने का दावा कर रही हैं.

X
रोहतक की 7 साल की दिशी वशिष्ठ ने विश्व रिकॉर्ड तोड़ने का दिया है चैलेंज.  (Photo: Aajtak) रोहतक की 7 साल की दिशी वशिष्ठ ने विश्व रिकॉर्ड तोड़ने का दिया है चैलेंज. (Photo: Aajtak)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पूजा ने 3 किलोमीटर की रेस 12 मिनट 50 सेकंड में पूरी की है
  • 3 किलोमीटर की रेस 12 मिनट 4 सेकंड में पूरी करने का चैलेंज

देश में प्रतिभाओं की कमी नहीं है. सिर्फ उनको तराशने की जरूरत है. हरियाणा के रोहतक (Rohtak) जिले के सांपला कस्बे में ऐसी ही एक 7 साल की दिशी वशिष्ठ प्रतिभावान खिलाड़ी हैं. दिशी ने राजस्थान (Rajasthan) की बाल धाविका पूजा बिश्नोई के रेस के रिकॉर्ड को तोड़ने का दावा किया है. सात साल की पूजा बिश्नोई ने 3 किलोमीटर की रेस को 12 मिनट 50 सेकंड में पूरी कर विश्व रिकॉर्ड बनाया है. दिशी को पूरी उम्मीद है कि वह इस रिकॉर्ड को तोड़कर लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स (Limca Book of Records) में अपना नाम दर्ज करा देंगी.

पिता ने भी जब अपनी बेटी के कदमों को तेजी से भागते देखा तो मेहनत करानी शुरू कर दी. दिशी ने भी सपना संजोया है कि रेस का रिकॉर्ड बनाकर वह एक दिन देश के लिए गोल्ड मेडल (Gold Medal for India) जरूर जीतकर आएंगी.

दिशी को लेकर सुबह 5 बजे पहुंच जाते हैं स्टेडियम

रोहतक की 7 साल की दिशी वशिष्ठ ने विश्व रिकॉर्ड तोड़ने का दिया है चैलेंज.

रोहतक के सांपला के रहने वाले दिनेश ने जब अपनी बेटी को गली में बच्चों के साथ भागते देखा तो उनके मन में एक सपना घर कर गया कि बेटी को एक अच्छा धावक बनाना है. इसके लिए पिता दिनेश और दिशी ने मेहनत शुरू कर दी. दिनेश बेटी दिशी को सुबह 5 बजे स्टेडियम में लेकर पहुंच जाते हैं और पहले वार्मअप करवाते हैं और फिर दौड़ लगवानी शुरू कर देते हैं. इस रेस की तैयारी से दिशी भी बहुत खुश हैं.

राजस्थान की पूजा बिश्नोई का वीडियो देखकर मिली प्रेरणा

दिशी के पिता दिनेश का कहना है कि शुरुआत में तो सिर्फ दौड़ लगाना ही लक्ष्य था, लेकिन जब राजस्थान की बाल धाविका पूजा बिश्नोई का वीडियो दिशी को दिखाया तो दिशी ने भी पूजा बिश्नोई के रिकॉर्ड तोड़ने का सपना संजो लिया. पूजा बिश्नोई ने 8 साल की उम्र में 3 किलोमीटर की दौड़ 12 मिनट 50 सेकंड में पूरी कर अंडर 10 विश्व रिकॉर्ड स्थापित किया है. अब दिशी इस रिकॉर्ड को तोड़ने का दावा कर रही हैं. दिशी का कहना है कि वह 3 किलोमीटर की रेस 12 मिनट 4 सेकंड में पूरी करके पूजा बिश्नोई का रिकॉर्ड तोड़ देंगी.

मिल्खा सिंह, उसैन बोल्ट और पीटी उषा दिशा के आदर्श

दिशी का कहना है कि वह सुबह ही अपने पिता के साथ स्टेडियम में पहुंच जाती हैं और वहां पर वार्मअप करने के बाद अपनी दौड़ की प्रैक्टिस शुरू कर देती हैं. दिशी ने कहा कि 'भाग मिल्खा भाग' फिल्म उन्हें काफी पसंद है और वे मिल्खा सिंह, उसैन बोल्ट और पीटी उषा को अपना आदर्श मानती हैं. कहती हैं कि एक दिन बड़ी खिलाड़ी बनकर देश के लिए मेडल लेकर आना चाहती हूं.

प्रोफेशनल कोच के बिना करा रहे तैयारी

दिशी के पिता दिनेश ने बताया कि जब उन्होंने बेटी को भागते हुए देखा तो कहीं न कहीं उनके मन में यह चीज आई कि बेटी को एक अच्छी खिलाड़ी बनाया जा सकता है. उन्होंने इसके लिए मेहनत शुरू कर दी. हालांकि अभी तक उनके पास ऐसा कोई प्रोफेशनल कोच नहीं है, जो दौड़ के बारे में बेहतर ट्रेनिंग दे सके. अगर उन्हें इस तरीके की सुविधा मिल जाए तो उनकी बेटी एक बेहतर खिलाड़ी बनकर देश का नाम रोशन कर सकती है.

Limca Book of Records की टीम से ​कर चुके संपर्क 

दिशी के पिता दिनेश ने कहा कि जिस तरीके से उनकी बेटी मेहनत कर रही है, उन्हें पूरी उम्मीद है कि वह पूजा बिश्नोई का रिकॉर्ड जरूर तोड़ देगी. दिनेश ने भी दावा किया है कि दिशी 3 किलोमीटर की रेस को 12 मिनट 4 सेकंड में पूरा कर देगी. इसके लिए हालांकि उन्होंने लिम्का बुक ऑफ रिकॉर्ड्स (Limca Book of Records) की टीम से भी संपर्क करने का प्रयास किया, लेकिन अभी तक उनका संपर्क नहीं हो पाया है. उनका कहना है कि अगर बेहतर सुविधाएं मिलीं तो दिशी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश का नाम रोशन करेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें