scorecardresearch
 

हरियाणा पंचायत चुनावः हिंसा के डर से दलितों ने की अलग बूथ की मांग

हरियाणा के भिवानी ब्लॉक के एक गांव में दलित समुदाय ने चुनाव के दौरान हिंसा की आशंका जताई है. समुदाय ने मांग की है कि उनके लिए अलग से बूछ बनाए जाएं.

X
10 जनवरी को होगा मतदान 10 जनवरी को होगा मतदान

हरियाणा के भिवानी में पंचायत चुनाव के लिए धाना लादनपुर गांव के दलितों ने बूथ बदलने की मांग की है. उन्हें पिछले पंचायत चुनाव की तरह हिंसा का डर है. गांव में फिलहाल दलित सरपंच ही हैं. सरपंच राधेश्याम ने जिला चुनाव अधिकारी साकेत कुमार को बताया कि पिछली बार ऊंची जाति वालों और दलितों के बीच हिंसा में एक युवक की मौत हो गई थी. अब बूथ बदलवाने के लिए दलित समुदाय ने डिप्टी कमिश्नर को ज्ञापन सौंपा है. ज्ञापन मुख्यमंत्री को संबोधित है.

दलितों को छोड़ना पड़ा था गांव
राधेश्याम ने अंग्रेजी अखबार द ट्रिब्यून को बताया कि पिछले चुनाव के दौरान हुई हिंसा के बाद दलितों को गांव छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा था. इसके बाद उन्हें दोबारा लौटने में काफी वक्त लग गया था. वे पुलिस और प्रशासन के इस भरोसे के बाद ही वापस आए थे कि अब उनकी जिंदगी को कोई खतरा नहीं है. ज्ञापन सौंपने गए लोगों में से एक और व्यक्ति ने कहा कि गांव में ऊंची जाति के लोगों और दलितों के बीच आज भी वैर कायम है. यह गांव भिवानी ब्लॉक में आता है. यहां 10 जनवरी को चुनाव है .

दलित चौपाल पर बूथ की मांग
दलित समुदाय ने मांग की है कि बूथ नंबर 4,7,8,9,10 और 11 को दलित चौपाल पर शिफ्ट किया जाए. ताकि किसी भी तरह के विवाद से बचा जा सके. इन बूथों में ऊंची जाति के वोटर भी आते हैं और ये बूथ एक सरकारी स्कूल में बने हैं. सरपंच पद की उम्मीदवार के पति बलवान प्रजापत ने भी कहा कि अलग बूथ बनाने से विवाद से बचा जा सकता है. सरपंच पद के लिए अबकी बार नौ उम्मीदवार मैदान में हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें