scorecardresearch
 

किसान आंदोलन: खट्टर ने 11 बार किया था फोन! अमरिंदर ने नहीं उठाया, न कॉल बैक किया

सीएम के निजी सचिव ने हरियाणा के सीएम ऑफिस का वो रिकॉर्ड जारी किया जिसमें दिख रहा है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 23 और 24 नवंबर को कैप्टन अमरिंदर सिंह के सरकारी निवास और उनके फार्म हाउस पर फोन किया था.

X
पंजाब सीएम पर सीएम खट्टर के निजी सचिव का हमला (फाइल फोटो) पंजाब सीएम पर सीएम खट्टर के निजी सचिव का हमला (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • किसान आंदोलन पर छिड़ी जुबानी जंग
  • पंजाब सीएम पर फोन नहीं उठाने के आरोप
  • हरियाणा सीएम के निजी सचिव ने दिखाए कॉल डिटेल्स

किसान आंदोलन को लेकर अब हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर और पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच जुबानी जंग शुरू हो गई है. इसी क्रम में मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के निजी सचिव अभिमन्यु यादव ने कॉल डिटेल दिखाते हुए दावा किया है कि हरियाणा सरकार की तरफ से पंजाब के सीएम को कई बार फोन किया गया, जिससे किसानों को आगे बढ़ने से रोका जाए. लेकिन उनकी तरफ से ना ही किसी ने फोन उठाया और ना ही कोई रिप्लाई आया.  

सीएम के निजी सचिव ने हरियाणा के सीएम ऑफिस का वो रिकॉर्ड जारी किया जिसमें दिख रहा है कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 23 और 24 नवंबर को कैप्टन अमरिंदर सिंह के सरकारी निवास और उनके फार्म हाउस पर फोन किया था. 23 नवंबर को दो बार फोन किया गया, जबकि 24 नवंबर को नौ बार.  निजी सचिव अभिमन्यु यादव के मुताबिक हरियाणा सीएम, पंजाब के मुख्यमंत्री को फोन कर किसानों को रोकने और उन्हें समझाने की बात कहना चाहते थे. 

निजी सचिव ने कहा कि सीएम मनोहर लाल खट्टर पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह से ये बात करना चाहते थे कि पंजाब से हरियाणा होकर दिल्ली जाने वाले किसानों को वो रोकने और समझाने का प्रयास करें और अगर जरूरत हो तो हरियाणा के सीएम पंजाब के सीएम के साथ जाकर केंद्र सरकार तक किसानों की बात पहुंचाने और इस मसले का समाधान निकालने का प्रयास कर सकते हैं.  

देखें: आजतक LIVE TV

हरियाणा सरकार के सीएम हाउस के रिकॉर्ड के मुताबिक 23 और 24 तारीख को करीब एक दर्जन बार प्रयास करने के बावजूद पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने हरियाणा के सीएम से बात नहीं की और ना ही पंजाब सीएम के स्टाफ या उनके ऑफिस की तरफ से हरियाणा के सीएम ऑफिस को कोई कॉल बैक किया गया. 

वहीं दूसरी ओर कैप्टन अमरिंदर सिंह का कहना है कि वो मनोहर लाल खट्टर से फोन पर बात नहीं करेंगे, क्योंकि उन्होंने पंजाब से हरियाणा में दाखिल हो रहे किसानों पर पुलिस कार्रवाई की.  

कैप्टन ने हरियाणा सीएम पर हमला करते हुए कहा कि पंजाब अपने किसानों को नहीं रोक रहा क्योंकि विरोध करना उनका हक है. आप उन्हें क्यों रोक रहे हो? वाटर कैनन और आंसू गैस उनपर क्यों छोड़े जा रहे हैं? जब हम उन्हें नहीं रोक रहे, दिल्ली उन्हें नहीं रोक रही तब आप कौन होते हो उन्हें रोकने वाले? जिस तरह का बर्ताव हुआ है, अब अगर वह मुझे 10 बार भी फोन करें तो मैं नहीं उठाऊंगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें