scorecardresearch
 

गुजरात में 'लव जेहाद' को लेकर वीएचपी ने बांटे नफरत भरे पर्चे

गुजरात में विश्व हिंदू परिषद ने कुछ पर्चे बांटे हैं, जिनमें मुस्लिम लड़कों द्वारा हिंदू लड़कियों को लुभाए जाने को लेकर ऐसी बातें लिखी गई हैं, जिनसे विवाद खड़ा हो सकता है.

X
विश्व हिंदू परिषद
विश्व हिंदू परिषद

गुजरात में विश्व हिंदू परिषद ने कुछ पर्चे बांटे हैं, जिनमें मुस्लिम लड़कों द्वारा हिंदू लड़कियों को लुभाए जाने को लेकर ऐसी बातें लिखी गई हैं, जिनसे विवाद खड़ा हो सकता है. राज्य में नरेंद्र मोदी के राज में वीएचपी शांत पड़ गया था लेकिन उनके यहां से जाने के बाद एक बार फिर ये एक्टिव मोड में आ गया है.

इन पर्चों पर लिखा गया है, 'हिंदू लड़कियों को लुभाने के लिए मुस्लिम गुंडों को करोड़ों रुपये उपलब्ध कराए जाते हैं.' मुस्लिमों की धार्मिक संस्था जमात-ए-इस्लामी हिंद का कहना है कि इस तरह के घृणा फैलाने वाले अभियान पर सत्ताधारी पार्टी बीजेपी की चुप्पी चिंताजनक है.

गुजरात जमात-ए-इस्लाम हिंद के प्रेसिडेंट शकील अहमद के मुताबिक, 'अजीब बात है कि ऐसे पर्चे मीडिया के हाथ लग जाते हैं लेकिन पुलिस को नहीं मिलते.'

गुजरात के वित्त मंत्री और राज्य सरकार के प्रवक्ता नितिन पटेल और बीजेपी महासचिव विजय रूपानी ने कहा कि उन्हें वीएचपी के इस पर्चे के बारे में कोई जानकारी नहीं है. पटेल ने बताया, 'मैंने न तो ऐसा कुछ सुना है और न ही देखा है.' गुजरात बीजेपी के अध्यक्ष आर. सी. फालदू ने इस मामले पर कुछ भी कहने से मना कर दिया. उनका कहना था कि वीएचपी ने यह पर्चा छपवाया है, लिहाजा इस पर वही टिप्पणी कर सकता है.

गुजरात वीएचपी के प्रेसिडेंट दिलीप त्रिवेदी ने बताया कि संस्थान इस सिलसिले में लोगों को इसलिए जागरुक कर रहा है, क्योंकि ऐसे मामले संगठित तरीके से बढ़ रहे हैं. उन्होंने एक अंग्रेजी अखबार को बताया, 'अगर धर्मों से इतर विवाह की इक्का-दुक्का घटनाए होतीं, तो इस पर प्रतिक्रिया नहीं दी जाती. पर्चे के अलावा हम बैठक कर लोगों को इस बारे में बता रहे हैं.'

वीएचपी के पर्चे में आरोप लगाया गया है कि मुस्लिम लड़के हिंदू लड़कियों को लुभाने या रेप करने और उन्हें अपनी दूसरी, तीसरी और चौथी पत्नी बनाने को अपनी धार्मिक जिम्मेदारी समझते हैं.

हालांकि, वीएचपी के एक सीनियर प्रतिनिधि ने माना कि पर्चे मेंं लिखी गई भाषा जरूरत से ज्यादा आक्रामक है. उन्होंने नाम जाहिर नहीं किए जाने की शर्त पर बताया, 'ऐसा नहीं होना चाहिए था. यही बात कम आक्रामक लहजे में भी कही जा सकती है.' इन पर्चों में ऐसी लड़कियों के मां-बाप की मदद की बात भी कही गई है.

पर्चों के मुताबिक, 'अपनी बेटियों को भद्दे ब्यूटी कॉम्पटीशन से दूर रखें, उन्हें अपने घर वापस इज्जत के साथ लेकर आएं. ऐसी मुश्किल आने पर वीएचपी, दुर्गा वाहिनी या बजरंग दल से संपर्क करें. ऐसे किसी भी नए या पुराने मामले की वीएचपी ऑफिस को जानकारी दें और हमारा मकसद पूरा करने में मदद करें.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें