scorecardresearch
 

गुजरात में कांग्रेस को एक और झटका, हार्दिक पटेल के बाद अब श्वेता ब्रह्मभट्ट बीजेपी में शामिल

गुजरात में साल के अंत तक होने वाले चुनाव से पहले नेताओं के दल-बदल का सिलसिला तेज होता नजर आ रहा है. सूबे में कांग्रेस को एक और झटका लगा है. हार्दिक पटेल के बाद अब श्वेता ब्रह्मभट्ट ने भी बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है.

X
श्वेता ब्रह्मभट्ट बीजेपी में शामिल श्वेता ब्रह्मभट्ट बीजेपी में शामिल
स्टोरी हाइलाइट्स
  • श्वेता ब्रह्मभट्ट ने 2017 में कांग्रेस से लड़ा था चुनाव
  • मई में कांग्रेस की सदस्यता से दिया था इस्तीफा

गुजरात में इस साल के अंत तक विधानसभा चुनाव होने हैं. चुनावी साल में नेताओं के दल-बदल का सिलसिला भी तेज होता नजर आ रहा है. गुजरात कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रहे हार्दिक पटेल ने पार्टी से इस्तीफा देने के बाद सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का दामन थाम लिया था. अब कांग्रेस को एक और झटका लगा है.

गुजरात कांग्रेस की युवा महिला चेहरा रहीं श्वेता ब्रह्मभट्ट भी बीजेपी में शामिल हो गई हैं. श्वेता ब्रह्मभट्ट ने बीजेपी कार्यालय पहुंचकर पार्टी की सदस्यता ग्रहण कर ली. श्वेता को बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल की मौजूदगी में पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई गई. श्वेता साल 2017 के विधानसभा चुनाव में अहमदाबाद की मणिनगर विधानसभा सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव मैदान में भी उतरी थीं.

ये भी पढ़ेंहार्दिक पटेल: मोदी-शाह के खिलाफ शुरू की थी राजनीति, BJP के हुए पाटीदार आंदोलन के सूत्रधार

श्वेता को 2017 के चुनाव में बीजेपी के सुरेश पटेल ने हरा दिया था. श्वेता के पिता नरेश ब्रह्मभट्ट भी कांग्रेस से जुड़े रहे हैं. कुछ दिन पहले श्वेता ब्रह्मभट्ट ने राजभवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी. श्वेता ब्रह्मभट्ट ने इसके कुछ दिन बाद ही कांग्रेस की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. कांग्रेस छोड़ते हुए श्वेता ब्रह्मभट्ट ने कहा था कि जिस लक्ष्य के साथ पार्टी में आई थी, उसे पूरा नहीं कर पाई.

श्वेता ब्रह्मभट्ट ने कांग्रेस नेतृत्व पर हमला बोलते हुए ये भी कहा था कि पार्टी में दूरदर्शिता और प्रबंधन का अभाव है. उन्होंने भी हार्दिक पटेल की तरह नेताओं के काम नहीं करने देने का आरोप लगाया था. श्वेता ब्रह्मभट्ट ने भी कहा था कि पार्टी कोई जिम्मेदारी देती है तो वरिष्ठ नेता काम ही नहीं करने देते. मुझे ठीक से काम नहीं करने दिया गया.

उन्होंने ये भी कहा था कि आलोचना नहीं कर रही हूं. अगर मेरी बात पर गौर किया जाए और इसे लागू किया जाए तो कांग्रेस को ही फायदा होगा. गौरतलब है कि श्वेता ब्रह्मभट्ट ने मई महीने में ही कांग्रेस की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. श्वेता ब्रह्मभट्ट के कांग्रेस से इस्तीफे और पीएम मोदी से मुलाकात के बाद उनके बीजेपी में शामिल होने की चर्चा थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें