scorecardresearch
 

Vijay Rupani resigns: गुजरात के CM पद से इस्तीफा क्यों दिया? विजय रुपाणी ने बताया ये कारण

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. विजय रुपाणी ने कहा कि गुजरात की विकास यात्रा में योगदान का मौका मिला. साथ ही उन्होंने कहा कि जिम्मेदारी देने के लिए पीएम मोदी के प्रति आभार व्यक्त करता हूं.

X
गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने CM पद से इस्तीफा दिया (फाइल-पीटीआई) गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने CM पद से इस्तीफा दिया (फाइल-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • विजय रुपाणी ने आज गुजरात के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया
  • पार्टी द्वारा जो भी जवाबदारी मिलेगी, मैं दायित्व के साथ करूंगा'
  • गुजरात के विकास के लिए अवसर देने के लिए आभारः रुपाणी

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने आज शनिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. इस्तीफा देने के बाद उन्होंने पद से इस्तीफा देने की वजह बताते हुए विजय रुपाणी ने कहा कि गुजरात की विकास यात्रा में मुझे योगदान का मौका मिला. गुजरात की विकास यात्रा नई ऊर्जा के साथ आगे बढ़ती रहनी चाहिए. यह ध्यान में रखते हए पद छोड़ रहा हूं. साथ ही उन्होंने कहा कि जिम्मेदारी देने के लिए पीएम मोदी के प्रति आभार व्यक्त करता हूं.

इस्तीफा देने के बाद विजय रुपाणी ने लिखित बयान पढ़ते हुए कहा, 'बीजेपी ने मुझे गुजरात के मुख्यमंत्री जैसी अहम जिम्मेदारी दी. मैंने इस दायित्व को अच्छी तरह से निभाते हुए अपने कार्यकाल के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ विशेष मार्गदर्शन मिलता रहा है. प्रधानमंत्री मोदी के मार्गदर्शन में गुजरात समग्र विकास तथा सर्वजन कल्याण के पथ आगे बढ़ते हुए नए आयामों को छुआ है.'

विजय रुपाणी ने पीसी में भूपेंद्र यादव की मौजूदगी में कहा, 'गुजरात के विकास की यात्रा में गत 5 वर्षों में मुझे योगदान करने का जो अवसर मिला उसके लिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का बहुत आभारी हूं, आभार प्रकट करता हूं.' उन्होंने कहा, 'मेरा मानना है कि अब गुजरात के विकास की यह यात्रा प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) के नेतृत्व में एक नए उत्साह व नई उर्जा के साथ नए नेतृत्व में आगे बढ़नी चाहिए. यह ध्यान रखकर मैं गुजरात के मुख्यमंत्री पद के दायित्व से त्यागपत्र दे रहा हूं.'

मेरा मानना है कि अब गुजरात के विकास की यह यात्रा प्रधानमंत्री (नरेंद्र मोदी) के नेतृत्व में एक नए उत्साह व नई उर्जा के साथ नए नेतृत्व में आगे बढ़नी चाहिए. यह ध्यान रखकर मैं गुजरात के मुख्यमंत्री पद के दायित्व से त्यागपत्र दे रहा हूं.

विजय रुपाणी, नेता, बीजेपी

इसे भी क्लिक करें --- Vijay Rupani resigns: विजय रुपाणी ने सीएम पद से इस्तीफा दिया, गुजरात में बीजेपी के लिए बड़ा उलटफेर

'जो भी जवाबदारी मिलेगी करूंगा'

इस्तीफा देने के बाद विजय रुपाणी ने कहा, 'संगठन और विचारधारा आधारित दल होने के नाते भारतीय जनता पार्टी की यह परंपरा है कि समय के साथ-साथ कार्यकर्ताओं के दायित्व भी बदलते रहे हैं. यह हमारी पार्टी की विशेषता है कि जो दायित्व पार्टी द्वारा दिया जाता है, पूरे मनोयोग से पार्टी कार्यकर्ता उसका निर्वहन करते हैं. मुख्यमंत्री के रूप में मिले दायित्व का निर्वहन करने बाद अब मैंने मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र देकर पार्टी के संगठन में नई ऊर्जा के साथ काम करने की इच्छा जताई है. अब मुझे पार्टी द्वारा जो भी जवाबदारी दी जाएगी उसका मैं संपूर्ण दायित्व और नए ऊर्जा के साथ प्रधानमंत्री के नेतृत्व एवं माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष के मार्गदर्शन में काम करूंगा.'

उन्होंने कहा, 'मैं गुजरात की जनता के प्रति भी आभार व्यक्त करता हूं कि विगत पांच वर्षों में हुए उपचुनाव हों अथवा स्थानीय निकाय के चुनाव हों, पार्टी और सरकार को गुजरात की जनता का अभूतपूर्व समर्थन, सहयोग और विश्वास मिला है. गुजरात की जनता का विश्वास भारतीय जनता पार्टी की ताकत भी बनी है और मेरे लिए लगातार जनहित में काम करते रहने की उर्जा भी रहा है.'

'सभी के सहयोग का आभार'

विजय रुपाणी ने कहा कि हमारी सरकार ने प्रशासन के चार आधार भूत सिद्धांतों पारदर्शिता, विकासशीलता, संवेदनशीलता एवं निर्णायकता के आधार पर जनता की सेवा करने का यथाशक्ति  प्रयत्न किया है. इस कार्य में मंत्रिमंडल के सभी सदस्यों, विधानसभा के सभी सदस्यों, पार्टी कार्यकर्ताओं एवं जनता का संपूर्ण सहयोग मिला है. मैं सभी का इस सहयोग के लिए आभार व्यक्त करता हूं.

रुपाणी ने कोरोना के दौर को याद करते हुए कहा, 'कोरोना के कठिन समय में हमारी सरकार ने दिन-रात अथक मेहनत कर गुजरात की जनता को यथासंभव सुरक्षित रखने का प्रयत्न किया है. साथ ही टीकाकरण के काम में भी गुजरात अग्रसर रहा है और हमने इसमें बहुत सारे नए कीर्तिमान स्थापित किए हैं, जिसका मुझे बहुत संतोष है.'

विजय रुपाणी ने कहा, 'पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुझे प्रशासनिक विषयों में नए अनुभवों को जानने-समझने का अवसर मिला है तथा  पार्टी के कामकाज में भी उनका सहकार व सहयोग मेरे लिए अमूल्य है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा का सहयोग और मार्गदर्शन भी मेरे लिए अटूट रहा है. मेरे त्यागपत्र से गुजरात में पार्टी के नए नेतृत्व को अवसर मिलेगा तथा हम सब एकजुट होकर माननीय प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में गुजरात की इस विकास यात्रा को नई उर्जा, नए उत्साह, नए नेतृत्व के साथ आगे लेकर जाएंगे.'

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें