scorecardresearch
 

सावन में कपड़ों के बाजार में योगी आदित्यनाथ टी-शर्ट की धूम

पूर्वी दिल्ली के थोक कपड़ों के बाजार गांधी नगर में भक्त कांवड़ियों को भोले व योगी की तस्वीर वाली गेरुआ टी-शर्ट भा रही है. जी हां, सावन महीने के शुभ आगमन के साथ ही यमुनापार सहित पूरी राजधानी में भक्त भगवान भोलेनाथ की आराधना में लीन हो जाते हैं.

योगी टी-शर्ट योगी टी-शर्ट

 पूर्वी दिल्ली के थोक कपड़ों के बाजार गांधी नगर में भक्त कांवड़ियों को भोले व योगी की तस्वीर वाली गेरुआ टी-शर्ट भा रही है. जी हां, सावन महीने के शुभ आगमन के साथ ही यमुनापार सहित पूरी राजधानी में भक्त भगवान भोलेनाथ की आराधना में लीन हो जाते हैं.

इसका सबसे ज्यादा असर मंदिरों से लेकर बाजारों तक में देखने को मिलता है. जहां मंदिरों में भजन, कीर्तन व पूजन की गूंज सुनाई देती है, वहीं बाजार केसरिया रंग में रंगे नजर आते हैं. कुछ इसी तरह का रंग इस बार भी यमुनापार के प्रमुख बाजारों पर चढ़ा हुआ है, जहां हर ओर केसरिया रंग के कपड़ों से सजी दुकानें नजर आ रही हैं. यहां हर बार भगवान भोलेनाथ की तस्वीर छपी केसरिया रंग की टी-शर्ट के लिए कांवड़ियों में काफी मांग रहती थी. मगर अब उनके साथ ही खास तौर पर योगी आदित्यनाथ की तस्वीर वाली टी-शर्ट की मांग भी बढ़ गई है.

सावन माह में शिव भक्त कांवड़िये हरिद्वार से पैदल यात्रा के जरिये गंगाजल लाकर अपने क्षेत्र के प्रसिद्ध मंदिरों में शिवलिंग पर जलाभिषेक करते हैं. इस यात्रा के दौरान कांवड़िये केसरिया रंग के कपड़े पहनकर अपनी आस्था दर्शाते हैं. एक ही रंग में कतारबद्ध चलते हुए कांवड़ियों का नजारा काफी सुंदर नजर आता है. पहले कांवड़ियों के कपड़ों पर भगवान भोलेनाथ की ही तस्वीरें नजर आती थीं, मगर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कुछ समय से काफी चर्चाओं में बने हुए हैं. ऐसे में अब पहली बार ऐसा हुआ है कि किसी साधु-संत ने अपनी लोकप्रियता के चलते धर्म प्रेमी श्रद्धालुओं के दिलों पर कब्जा जमाया है.

यही कारण है कि शिव भक्त कांवड़िये एक ओर भोलेनाथ और दूसरी ओर योगी की तस्वीर वाली टी-शर्ट काफी पसंद कर रहे हैं. हर वर्ष सावन के महीने में इसी तरह से बाजार में कांवड़ियों के बीच भगवा रंग के कपड़ों की मांग बढ़ जाती है. ऐसे में दुकानदार इसी तरह के कपड़े अलग-अलग डिजाइनों में खरीदारों को उपलब्ध कराते हैं. इस बार बच्चों से लेकर युवाओं तक में योगी की टी-शर्ट की काफी मांग देखी जा रही है. केसरिया रंग के कपड़ों को धार्मिक पोशाक माना जाता है. यही कारण है कि सावन के महीने में कांवड़िये इसी रंग के कपड़ों की मांग कर रहे हैं. इस बार भी इस तरह के अंगोछे, टी-शर्ट व शॉर्ट्स की खूब बिक रहे हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें