scorecardresearch
 

दिल्ली में महिलाओं की सुरक्षा के लिए बढ़ाई जाएंगी पीसीआर

कैब रेप केस के बाद गृह मंत्रालय ने राजधानी दिल्ली में अपराध पर नकेल कसने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं. बुधवार को गृहमंत्रालय के ट्विटर अकाउंट से इन फैसलों के बारे में ट्वीट किए गए. यहां पढ़िए दिल्ली की सुरक्षित बनाने के लिए गृह मंत्रालय के नए कदमों के बारे में..

Home Minister Rajnath Singh Home Minister Rajnath Singh

कैब रेप केस के बाद गृह मंत्रालय ने राजधानी दिल्ली में अपराध पर नकेल कसने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं. बुधवार को गृहमंत्रालय के ट्विटर अकाउंट से इन फैसलों के बारे में ट्वीट किए गए. यहां पढ़िए दिल्ली को सुरक्षित बनाने के लिए गृह मंत्रालय के नए कदमों के बारे में..

1. महिलाओं की सुरक्षा गृह मंत्रालय के लिए पहली प्राथमिकता है. इसके लिए पीसीआर वाहनों की संख्या बढ़ाकर एक हजार की जाएगी.

2. दिल्ली में ग्यारह जिले हैं और सभी जिलों में फास्ट ट्रैक कोर्ट की सुविधा हैं.

3. दिल्ली में रेप के मामलों में 36 फीसदी आरोपी दोषी ठहराए जाते हैं और यह राष्ट्रीय औसत 27 फीसदी से कहीं ज्यादा है.

4. 150 जिलों में महिलाओं के खिलाफ रेप, एसिड अटैक और दहेज हत्या के मामलों की जांच के लिए विशेष जांच दल बनाए जाएंगे.

5. महिलाओं को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी जाएगी. साल 2014 में चौदह हजार तीन सौ तिहत्तर महिलाओं ने दिल्ली में सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग ली.

6. दिल्ली सरकार ने 255 संवेदनशील इलाकों की पहचान की है. इनमें रोड, पार्क और दूसरे सार्वजनिक स्थान शामिल है. जहां दिल्ली पुलिस खास तौर पर निगाह रखेगी.

7. सभी वाहनों में अब जीपीएस अनिवार्य होंगे, जबकि 200 बसों में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं. महिला हेल्पलाइन की क्षमता बढ़ाई गई.

8. सरकार ने दिल्ली में 377 सीसीटीवी कैमरे लगाए हैं और 1550 सीसीटीवी जल्द ही लगाए जाएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें