scorecardresearch
 

प्रदूषण के खिलाफ विजय गोयल ने खोला मोर्चा, कटघरे में केजरीवाल सरकार

उन्होंने कहा आम आदमी पार्टी 5 साल की क्रांति दिवस मना रही है किस बात की क्रांति? दिल्ली को गैस चैंबर बनाने की? भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने की और बड़ी बड़ी बात कर सत्ता हासिल करने वाली सरकार का काम सिर्फ खेल खेलना है.

विजय गोयल विजय गोयल

प्रदूषण को लेकर एक बार फिर केंद्रीय राज्य मंत्री और बीजेपी सांसद विजय गोयल ने मोर्चा खोल दिया है. दिल्ली का दिल कहे जाने वाले कनॉट प्लेस में उन्होंने सिग्नेचर वॉल कैंपेन चलाया जहां पर लोगों ने प्रदूषण के खिलाफ सिग्नेचर कैपेंन पर अपनी सहमति दी. इसका मकसद प्रदूषण को लेकर लोगों में जागरुकता फैलाना है साथ ही विजय गोयल इस मौके पर भी केजरीवाल सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया है.

उन्होंने कहा आम आदमी पार्टी 5 साल की क्रांति दिवस मना रही है किस बात की क्रांति? दिल्ली को गैस चैंबर बनाने की? भ्रष्टाचार को बढ़ावा देने की और बड़ी-बड़ी बात कर सत्ता हासिल करने वाली सरकार का काम सिर्फ खेल खेलना है.

लॉटरी के खिलाफ आंदोलन छेड़कर दिल्ली की सियासत में अपनी धमक बनाने वाले केंद्रीय राज्यमंत्री विजय गोयल ने राजधानी में अपना राजनीतिक रसूख बढ़ाने के लिए जन आंदोलन का सहारा लेने जा रहे हैं.

प्रदूषण के जरिए वह दिल्ली की सियासत में वापसी की तैयारी कर रहे हैं. उनकी कोशिश इस आंदोलन के बहाने दिल्ली के प्रत्येक वर्ग तक पहुंचने और ज्यादा से ज्यादा लोगों को जोड़ने की है, इसलिए वो इसे भाजपा के बजाय स्वयंसेवी संस्था लोक अभियान के बैनर तले शुरू सिग्नेचर वॉल कैंपेन चला रहे हैं.

उन्होंने कहा कि दिल्ली में वो प्रदूषण के खिलाफ आंदोलन खड़ा करेंगे ताकि लोगों को इससे जोड़ा जाए. साथ ही केजरीवाल सरकार की करनी को भी बताया जाए कि बड़ी-बड़ी बात बोलने वाले का साथ देने का क्या नतीजा होता है. उन्होंने केजरीवाल सरकार पर हमला करते हुए कहा कि जिस तरह से आम आदमी पार्टी की सरकार 5 साल का क्रांति दिवस मना रही है, जिन्होंने दिल्ली ने गैस चैंबर बना दिया. अब रामलीला मैदान में प्रदूषण के खिलाफ रैली करेंगे.

आपको बता दें कि गोयल ने नब्बे के दशक में एक अंक वाली लॉटरी के खिलाफ आंदोलन चलाकर सरकार को इसे बंद करने के लिए मजबूर कर दिया था. उस आंदोलन से इनका सियासी कद भी बढ़ा था. चांदनी चौक से सांसद चुने जाने के साथ ही वह अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मंत्री भी बने थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें