scorecardresearch
 

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल के एसीपी की सड़क पर पिटाई

दिल्ली पुलिस में स्पेशल सेल के एसीपी अमित कुमार को कुछ लोगों ने बुरी तरह से पीट दिया. घटना दिल्ली में लोदी श्मशान घाट के पास की है. एसीपी को एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है और उन पर हमला करने वाले परिवार को हिरासत में ले लिया गया है.

दिल्ली का गूगल मैप दिल्ली का गूगल मैप

दिल्ली पुलिस में स्पेशल सेल के एसीपी अमित कुमार को कुछ लोगों ने बुरी तरह से पीट दिया. घटना दिल्ली में लोदी श्मशान घाट के पास की है. एसीपी को एम्स ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है और उन पर हमला करने वाले परिवार को हिरासत में ले लिया गया है.

घटना गुरुवार शाम करीब 4.30 बजे की है, जब अमित पुलिस हेडक्वार्टर जा रहे थे. स्पेशल सेल के ऑफिसर सादी वर्दी में रहते हैं और अमित भी सादी वर्दी में ही थे. अमित को लात-घूसों के अलावा हेलमेट, रॉड और पत्थर से बुरी तरह से पीटा गया.

प्रत्यक्षदर्श‍ियों के अनुसार वहां एक छोटा सा एक्सीडेंट हुआ था. एसीपी अमित सिंह को बुरी तरह से पीटने वाले परिवार की पहचान हो गई है इन सब को हिरासत में ले लिया गया है.

एसीपी पर हमला करने वाले परिवार का बेटा कार से जा रहा था, जबकि उसके माता-पिता मोटरसाइकिल पर उसके पीछे-पीछे जा रहे थे. एसीपी की कार को युवक की कार ने टक्कर मारी और उसके बाद दोनों पक्षों में वाद-विवाद हुआ और फिर पूरे परिवार ने मिलकर एसीपी को बुरी तरह से पीट दिया. स्पेशल सेल की टीम घटनास्थल पर पहुंच गई है.

एसीपी को पीटने वाला परिवार दिल्ली के जीके-2 का रहने वाला है. एसीपी की कार से इस परिवार के नाबालिग लड़के जसवंत (बदला हुआ नाम) की कार टकराई थी. एसीपी पर हमला करने वालों के नाम योगेश कोचर, जसवंत (बदला हुआ नाम) और रजनी हैं. रजनी नाबालिग की मां हैं. सूत्रों के अनुसार रजनी, योगेश कोचर के साथ लिव-इन में रहती है. योगेश के खिलाफ पहले भी आईपीसी की धारा 307 और 325 के तहत मामला दर्ज हो चुका है. मामले की जांच जारी है.

इस मामले में बोलते हुए स्पेशल सेल के डीसीपी राजीव रंजन ने बताया कि यह असल में रोड रेज का मामला है. उन्होंने बताया कि एक मोटरसाइकिल एसीपी की कार से टकरा गई थी. एसीपी की कार में उनके साथ उनका ड्राइवर भी था. जैसे ही ड्राइवर बाहर निकला और मोटरसाइकिल सवार से बात करने की कोशिश की तो उन लोगों ने ड्राइवर पर हमला कर दिया. इसके बाद एसीपी अमित सिंह ड्राइवर को बचाने बाहर आए तो उन लोगों ने अमित पर भी हमला कर दिया.

डीसीपी ने बताया कि एसीपी अमित सिंह अब खतरे से बाहर हैं और उनकी सही तरीके से देखभाल हो रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×