scorecardresearch
 

जगुआर का दावा, दिल्ली की हवा से ज्यादा साफ हमारी कारों का एग्जॉस्ट

सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में 2000 सीसी या इससे ज्यादा की कारों के रजिस्ट्रेशन पर बैन क्या लगाया, जगुआर ने दिल्ली की हवा को उस हवा से भी खराब बता दिया जो उसकी लग्जरी कारों से निकलती है.

जगुआर इंडिया के सीईओ ने किया साफ एग्जॉस्ट का दावा जगुआर इंडिया के सीईओ ने किया साफ एग्जॉस्ट का दावा

दिल्ली की हवा को साफ बनाने के लिए ऑड-इवन लागू करने की तैयारी के बीच लग्जरी कार कंपनी जगुआर रेंज रोवर ने बड़ा दावा किया है. टाटा के मालिकाना हक वाली इस कंपनी ने कहा है कि उसकी कारों का एग्जॉस्ट दिल्ली की हवा से ज्यादा साफ है.

इसलिए अहम है यह दावा
सुप्रीम कोर्ट की ओर से मार्च 2016 तक 2000 सीसी या इससे ज्यादा पावर के इंजन वाली कारों के रजिस्ट्रेशन पर रोक लगाए जाने के बीच कंपनी ने यह दावा किया है. कंपनी का कहना है कि उसकी नई तकनीक वाली गाड़ियां जो हवा छोड़ती हैं, वह उस हवा से काफी साफ है जो दिल्ली की सड़कों से वे खींचती हैं.

JLR के CEO ने क्या कहा?
जेएलआर के सीईओ ने कहा, 'नई EU VI रेग्‍युलेशन स्‍कीम में कई टेक्निकल फीचर हैं. ये फीचर दिल्‍ली की हवा को साफ कर सकते हैं. इस तरह की गाड़ियां वैक्‍यूम क्लीनर की तरह काम करती हैं. ये जो हवा अंदर खींचती हैं, वह उस हवा से काफी गंदी होती है जो ये छोड़ती हैं.'

पुरानी कारें बैन करोः CEO
कंपनी के सीईओ ने कहा, 'ऐसी तकनीक वाली गाड़ियों के रजिस्ट्रेशन पर रोक हमारी समझ से बाहर है. अगर इसका मकसद प्रदूषण कम करना और हवा की क्लालिटी को सुधारना है तो इसके लिए पुरानी कारों को बैन कीजिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें