scorecardresearch
 

AAP विधायक करतार सिंह के दफ्तर ने सामने रखे कागजात, IT रेड पर दी सफाई

विधायक करतार सिंह के दफ्तर के मुताबिक, 27 और 28 जुलाई को छापेमारी के दौरान इनकम टैक्स को लिखि‍त में दिया गया कि उनके पास कोई बेमानी संपत्ति नहीं है.

करतार सिंह करतार सिंह

इनकम टैक्स की रेड के बाद आम आदमी पार्टी के विधायक करतार सिंह पर अवैध संपत्ति, ज्वेलरी और फार्म हाउस होने के संकेत मिले थे. विधायक के दफ्तर ने बुधवार को कुछ कागजात सामने रखते हुए अपनी सफाई पेश की है. साथ ही इनकम टैक्स विभाग के उलट दावा किया है कि करतार सिंह के पास अवैध संपत्ति नहीं है.

विधायक करतार सिंह के दफ्तर के मुताबिक, 27 और 28 जुलाई को छापेमारी के दौरान इनकम टैक्स को लिखि‍त में दिया गया कि उनके पास कोई बेमानी संपत्ति नहीं है. दफ्तर ने दावा किया है कि अवैध संपत्ति को लेकर अभी तक इनकम टैक्स विभाग ने रेड के बाद कुछ भी नहीं पूछा है और विधायक का जब्त फोन भी वापिस कर दिया गया है.

एजेंसी को दी गई प्रॉपर्टी की जानकारी
विधायक के दफ्तर ने इनकम टैक्स विभाग की रेड के बाद विधायक के घर से जब्त नगद राशि का भी ब्योरा दिया है. इसके मुताबिक करतार सिंह के घर से रेड के दौरान कुल नगद 11 लाख 25 हजार 75 रुपये जब्त किये गए थे. सिंह के करीबियों के मुताबिक, विधायक के परिवार के पास सैंकड़ो एकड़ पुस्तैनी जमीन थी. प्रॉपर्टी का बंटवारा होने के बाद विधायक के पास जो संपत्ति‍ है, उसमें अब एक फार्म हाउस है. दफ्तर का कहना है कि परिवार के सदस्य के पास जो भी प्रॉपर्टी है, उसकी जानकारी इनकम टैक्स या बाकी एजेंसी को बाकायदा दी गई है.

ज्वेलरी के लागत की जानकारी नहीं
इनकम टैक्स की रेड के दौरान जब्त की गई ज्वेलरी पर सफाई देते हुए करतार सिंह के दफ्तर ने कहा, 'जो ज्वेलरी जब्त हुई वो पत्नी, बेटी और बहू की ज्वेलरी है.' विधायक को ज्वेलरी के लागत की जानकारी नहीं है. विधायक के दफ्तर से मिले कागजात के मुताबिक, करतार सिंह 4 कंपनी में डायरेक्टर हैं, जबकि इससे पहले वो 7 कंपनी में डायरेक्टर रह चुके हैं. दफ्तर ने माना है कि इनमें से एक कंपनी VN Horticultures Private Limited में विधायक की प्रॉपर्टी है.

दिलचस्प है कि विधायक पर लगे अवैध संपत्ति के दाग पर आम आदमी पार्टी बयान देने के लिए सामने नहीं आई है. खुद विधायक करतार सिंह ऑन कैमरा सवालों का जवाब देने से बचते नजर आए. हालांकि सूत्र बताते हैं कि पार्टी लगातार विधायक के संपर्क में है और विधायक पूरे मामले में कानूनी सलाह भी ले रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें