scorecardresearch
 

कोरोना की तेज लहर के बीच दिल्ली के इन अस्पतालों में सर्जरी कराने पहुंचे मरीजों को अब होगी दिक्कत, देखें लिस्ट

इससे पहले अखिल भारतीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान (AIIMS) ने कोरोना के बढ़ते नए केस से निपटने की तैयारी शुरू कर दी थी. एक हफ्ते पहले AIIMS में रूटीन भर्ती पर रोक लगा दी गई है. साथ ही गैर जरूरी सर्जरी भी बंद कर दी गई है. इस संबंध में एम्स के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर डीके शर्मा की ओर से शुक्रवार को एक चिट्ठी जारी की गई थी. 

फाइल फोटो. फाइल फोटो.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली में गुरुवार को कोरोना के 28,867 नए मामले सामने आए
  • कोरोना पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 29.21 प्रतिशत हो गई है

कोरोना की तेज लहर के बीच दिल्ली के LNJP, GTB के अलावा AIIMS में सर्जरी कराने पहुंचे मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा.  स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों से निपटने के लिए एलएनजेपी और जीटीबी अस्पतालों में नियमित और वैकल्पिक सर्जरी को अस्थायी रूप से बंद कर दिया है. 11 जनवरी को जारी एक आदेश में कहा गया है कि दिल्ली में कोरोना के मामलों की संख्या में वृद्धि को देखते हुए यह निर्देश दिया जाता है कि अगले आदेश तक जीएनसीटीडी के एलएनएच और जीटीबी अस्पतालों में नियमित और वैकल्पिक सर्जरी को निलंबित कर दिया जाए. दिल्ली कोरोना ऐप के अनुसार, एलएनजेपी अस्पताल में कोविड रोगियों के लिए 750 ऑक्सीजन बेड हैं. इनमें से 154 बेड पर मरीज भर्ती हैं. 

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में गुरुवार को कोरोना के 28,867 नए मामले सामने आए. कोरोना महामारी के शुरू होने से बाद ये एक दिन का सबसे ज्यादा आंकड़ा है. इससे पहले दिल्ली में पिछले साल 20 अप्रैल को कोरोना के 28,395 मामले सामने आए थे. गुरुवार को 31 लोगों की मौत हुई. वहीं कोरोना पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 29.21 प्रतिशत हो गई है. इससे पहले बधवार को दिल्ली में कोरोना के 27,561 नए मामले सामने आए थे जबकि 40 लोगों की मौत हुई थी. 

एक सप्ताह पहले एम्स में भी रूटीन भर्ती पर रोक, गैर जरूरी सर्जरी भी बंद

बता दें कि इससे पहले अखिल भारतीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान (AIIMS) ने कोरोना के बढ़ते नए केस से निपटने की तैयारी शुरू कर दी थी. एक हफ्ते पहले AIIMS में रूटीन भर्ती पर रोक लगा दी गई है. साथ ही गैर जरूरी सर्जरी भी बंद कर दी गई है. इस संबंध में एम्स के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉक्टर डीके शर्मा की ओर से शुक्रवार को एक चिट्ठी जारी की गई थी. 

कहा गया है कि नए और पहले से भर्ती मरीजों के फॉलोअप के लिए एम्स अस्पताल और उसके सभी केंद्रों में ओपीडी सेवाएं काम करती रहेंगी. इसके अलावा कहा गया है कि सभी स्पेशियलिटी क्लीनिक को फिलहाल बंद कर दिया जाएगा और स्पेशियलिटी क्लीनिक में भर्ती मरीजों के फॉलोअप के लिए अप्वाइंमेंट रजिस्ट्रेशन जारी रहेगी. इसके अलावा सभी नियमित भर्ती और सभी नियमित प्रक्रियाएं, गैर जरूरी सर्जरी अगले आदेश तक अस्थायी रूप से रोक दी जाएंगी. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×